हल्द्वानी हिंसा के आरोपी मलिक के घर की खिड़की दरवाजे भी उखाड़ ले गई पुलिस

0
85

हल्द्वानी 17 फरवरी। गत 8 फरवरी को हल्द्वानी में हुई हिंसा मामले में पुलिस प्रशासन का ताबड़तोड़ एक्शन जारी है। अब तक पुलिस 42 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है वहीं 9 फरार आरोपियों के पोस्टर क्षेत्र में चस्पा किये जा चुके हैं और उनकी संपत्तियों को कुर्क करने की कार्रवाई भी तेजी से जारी है।
पुलिस के आला अधिकारियों का कहना है कि हिंसा करने वालों को कतई भी बख्शा नहीं जाएगा। मुख्य आरोपी अब्दुल मलिक और उसके बेटे की संपत्तियों को कुर्क करने की जो कार्रवाई कल शुरू की गई थी वह आज दूसरे दिन भी जारी रही। अब्दुल मलिक के महलनुमा घर का सामान ही नहीं उसके खिड़की और दरवाजे तक पुलिस ने उखाड़ने शुरू कर दिए हैं। अब्दुल मलिक जिसका ट्रांसपोर्ट से लेकर खनन और ठेकेदारी का बड़ा कारोबार है अरबों की संपत्ति का मालिक है। जिसकी फरारी के बाद पुलिस लगातार उसके सहित अन्य आठ लोगों की तलाश में जुटी हुई है। अब्दुल मलिक व उसके बेटे की संपत्तियों के साथ फरार चल रहे अन्य सात नामजद़ लोगों की भी पुलिस द्वारा संपत्तियों को कुर्क किया जाना है।
हल्द्वानी हिंसा के 8 दिन बाद भी अभी बनभूलपुरा में आंशिक रूप से कर्फ्यू जारी है आज पुलिस प्रशासन द्वारा कुछ क्षेत्रों में दो से लेकर 8 घंटे तक की ढील जरूर दी गई है यह ढील सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे के बीच दी गई है जिससे लोग अपनी जरूरत का जरूरी सामान ले सके। सिटी मजिस्ट्रेट रिचा सिंह और एसडीएम पारितोष तथा जोनल कमिश्नर ए वी वाजपेई भी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। अधिकारियों का कहना है की स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है तथा आम आदमी को किसी तरह की कोई परेशानी न हो इसके लिए कर्फ्यू में ढील दी जा रही है। मेडिकल स्टोर व किराने की दुकाने खोली गई है जिससे लोग अपनी जरूरत का सामान खरीद सके। इस बीच सैटेलाइट तस्वीरों से यह पता लगा है कि अब जिसे मलिक के बगीचे के नाम से जाना जाता है उस स्थान पर 2018 से पहले कोई भवन या इमारत नहीं थी। यह स्थान पूर्णतया खाली था इसके बाद बीते तीनकृचार सालों में ही इस पर मदरसे से लेकर नमाज अता करने के स्थान सहित तमाम बिल्डिंगों का निर्माण किया गया 2023 की सैटेलाइट तस्वीरों में इस क्षेत्र में अनेक भवन बने दिखाई दे रहे हैं। फरार आरोपियों के खिलाफ जल्द ही लुक आउट नोटिस भी जारी होने वाला है।