जिलाधिकारी ने किया नगर निगम देहरादून का औचक निरीक्षण

0
90

देहरादून 16 दिसंबर । माननीय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी द्वारा देहरादून शहर को सुन्दर, स्वच्छ, सुगम आवागमन बनाने हेतु जिलाधिकारी को दिए गए दिशा-निर्देशों के अनुपालन में आज आज जिलाधिकारी ने नगर निगम देहरादून का औचक निरीक्षण कर सम्पादित कार्यों का अवलोकन करते हुए शहर को स्वच्छ एवं सुन्दर बनाने में प्लानिंग बनाकर कार्य करने की रणनीति बनाने के दिशा-निर्देश दिए। जिलाधिकारी/प्रशासक नगर निगम के औचक निरीक्षण के उपरान्त कार्मिकों में दिखी सक्रियता। डोर-टू-डोर कूड़ा निस्तारण सही प्रकार से कार्य जीपीएस में मैपिंग न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए तथा वाहनों के आवागमन रूट को जीआईएस मैप पर कलरफुल बनाने के दिशा-निर्देश दिए। औचक निरीक्षण में 1 एसएनए, 4 कर निरीक्षक सहित कुल 13 कार्मिक अनुपस्थित पाए गए, जिनके एक दिन के सीएल में कटौति करते हुए स्पष्टीकरण तलब करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने नगर निगम में अपने कार्य हेतु आने-वाले लोगों से भी बात करते हुए समस्याए जानी तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।
जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका ने आज नगर निगम देहरादून का औचक निरीक्षण करते हुए नगर निगम परिसर स्थित कार्यालयों, सैक्शन, रिकार्डरूम में व्यवस्थाएं देखी। इस दौरान जिलाधिकारी ने प्रत्येक सैक्शन में उपस्थिति पंजिका का अवलोकन किया तथा रजिस्टर से कार्मिकों के नाम बोलते हुए उपस्थिति जांचते हुए फील्ड में गए कार्मिकों की वीडियोकॉल के माध्यम से फील्ड में उपस्थिति देखी।साथ ही निर्देश दिए कि जो कार्मिक फील्ड में गए हैं वह किस निमित फील्ड में गए तथा क्या कार्यवाही की गई, उसकी शाम तक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी के निरीक्षण के दौरान 13 कार्मिक मौके पर उपस्थित नही थे, जिस पर सम्बन्धित कर्मचारियों की अनुपस्थिति लगाते हुए कार्यवाही करने के निर्देश अपर नगर आयुक्त को दिए। इसके उपरान्त जिलाधिकारी ने अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए आवश्यक निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कूड़ा उठान वाहनों की जीआईएस के माध्मय से ऑनलाईन कूड़ा उठान की स्थिति देखते हुए प्रत्येक घर से डोर-टू-डोर कूड़ा उठाने वाले वाहनों का रूट निर्धारित करते हुए नियमित मॉनिटिरिंग करने के निर्देश दिए। उन्होंने अपर मुख्य नगर अधिकारी को जोनल आफिस में बैठने हेतु रोस्टर बनाने तथा कार्मिकों को कार्य आवंटन करते हुए अवगत कराने के निर्देश दिए। स्ट्रीट लाईट सही कार्य कर रही है उसका प्रमाणित सूचना देने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिए।
जिलाधिकारी ने निरीक्षण उपरान्त अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए दिए आवश्यक दिशा- निर्देश। निर्देशित किया कि नगर निगम की भूमि की मैपिंग करते हुए सरकारी भूमि से अतिक्रमण हटाएं, शहर में दीवारों पर पोस्टर बैनर न लगें यदि लगे पाए गए तो सम्बन्धित पर होगी कार्यवाही, जहां स्ट्रीट लाईट लगी है वह खराब न हो यदि खराब होने की शिकायत आती है तो त्वरित ठीक करने की कार्यवाही हो, म्यूटेशन के वाद अनावश्यक लम्बित न रहे यदि कोई वाद लम्बित है उसका कारण वर्णित हो तथा सम्बन्धित को सूचना भी दी जाए। वार्डवार कूड़ा उठान वाहनों से कूड़ा उठान किया जाए तथा इसकी प्रतिदिन मॉनिटिरिंग करने के निर्देश मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी को दिए। उन्होंने निर्देश दिए कि नगर निगम की भूमि की मैपिंग की जाए यदि कहीं अतिक्रमण हैं तो सरकारी भूमि से अतिक्रमणमुक्त करने की कार्यवाही करें। कर वसूली कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए तथा जो बड़े बकायेदार हैं उनको नोटिस प्रेषित किए जांए।
निरीक्षण के दौरान अपर नगर आयुक्त बीर सिंह बुदियाल, उप नगर आयुक्त गोपाल राम बिनवाल, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अविनाश खन्ना, सहायक नगर आयुक्त श्री जोशी, सहायक निदेशक सूचना बी.सी नेगी सहित नगर निगम के अधिकारी एवं कार्मिक उपस्थित रहे।