दून सहित पूरे राज्य में बारिश का दौर जारी

0
24

यात्रियों से सावधानी बरतने की अपील
देहरादून 26 जून । मौसम विभाग की भविष्यवाणी के अनुरूप बुधवार सुबह से ही उत्तराखंड के आसमान में काले घने बादलों ने अपना डेरा डाल रखा है। गरज के साथ कहीं हल्की तो कहीं भारी बारिश का दौर जारी है। मौसम विभाग की चेतावनी के बाद आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा भी अपनी तैयारियों को धार दी जा रही है। जिससे आपदा के समय प्रभावितों की मदद की जा सके।
अलर्ट के मद्देनजर आदि कैलाश और ओउम पर्वत की यात्रा को 30 जून तक के लिए रोक दिया गया है। वही चार धाम यात्रा मार्गों पर चिन्हित डेंजर जोन में जेसीबी और आपदा प्रबंधन विभाग की टीमों को तैनात कर दिया गया है। एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमों को अलर्ट पर रखा गया है वहीं सभी जिलाधिकारी को 24 घंटे स्थिति पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। धामों में पहुंचने वाले यात्रियों के लिए भी नई एसओपी जारी की गई है।
उधर आज आपदा प्रबंधन विभाग के मुखिया रंजीत सिन्हा द्वारा सभी हाइड्रो प्रोजेक्ट के अधिकारियों के साथ एक अहम बैठक की जिसमें शैडो सिस्टम तैयार करने को कहा गया है। हर एक बांध के जल स्तर और उसे छोड़े जाने वाले पानी की जानकारी आपदा प्रबंधन विभाग को मुहैया कराई जाएगी जिसके आधार पर आपदा प्रबंधन की तैयारी रखी जाएगी। बैठक में एनडीआरएफ एसडीआरएफ तथा अन्य कई विभागों के अधिकारी की मौजूद रहे।
उल्लेखनीय है कि 27 से 30 जून के बीच राज्य के चार जिलों जिनमें पिथौरागढ,़ बागेश्वर, चंपावत व नैनीताल शामिल है अतिवृष्टि की संभावना जताई गई है जबकि चमोली, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग तथा दून सहित पूरे राज्य में भारी व सामान्य बारिश की चेतावनी देते हुए इस दौरान भूस्खलन बाढ़ व रोड ब्लॉक होने के साथ बादल फटने व आकाशीय बिजली गिरने से नुकसान की संभावना जताई गई है।