मंदिर पहुंचे इंटरनेशनल टनलिंग एक्सपर्ट अर्नोल्ड डिक्स

0
120

उत्तरकाशी 29 नवंबर । 400 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद, आखिरकार सिलक्यारा सुरंग में फंसे 41 मजदूरों बाहर निकाला लिए गए हैं। ऐसे में उत्तरकाशी बचाव अभियान में शामिल एक अंतर्राष्ट्रीय सुरंग विशेषज्ञ अर्नोल्ड डिक्स ने भी इसे लेकर हालिया बयान दिया है। उन्होंने इस रेस्क्यू ऑपरेशन को एक चमत्कार बताते हुए, जल्द से जल्द मंदिर जाने की जानकारी दी है। दरअसल उन्होंने वादा किया था कि, अगर ऑपरेशन सफल रहता है, तो वह मंदिर जाकर इसका धन्यवाद जरूर करेंगे। इस बयान के कुछ समय बाद ही उन्हें एक मंदिर में प्रार्थना करते हुए भी देखा गया। अंतर्राष्ट्रीय सुरंग विशेषज्ञ अर्नोल्ड डिक्स उत्तराखंड में सिलक्यारा सुरंग के अंदर फंसे 41 श्रमिकों की सुरक्षित निकासी के लिए प्रार्थना करने में एक पुजारी के साथ शामिल हुए। उनकी ये पोस्ट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है।
अंतर्राष्ट्रीय सुरंग विशेषज्ञ अर्नोल्ड डिक्स ने ऑपरेशन की सफलता का जिक्र करते हुए कहा कि, बतौर पेरेंट्स यह मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है कि कई माताकृपिता अपने बच्चों को सुरक्षित देख पाएंगे। उन्होंने अपने पिछले बयान को दोहराते हुए कहा कि मैंने कहा था कि क्रिसमस तक सभी 41 मजदूर सुरक्षित अपने घर लौटेंगे।
इस सफलता के रहस्य पर अर्नोल्ड का कहना था कि हम शांत थे और जानते थे कि हम क्या चाहते हैं। हमने एक अद्भुत टीम के तौर पर काम किया। उन्होने कहा कि हमारे साथ तमाम इंजीनियर और सेना के सर्वश्रेष्ठ लोग मौजूद थे। सभी एजेंसियों और संघीय प्राधिकरण की सहायता के बदौलत हम इस सफल मिशन का हिस्सा बनें। हालांकि यह मिशन काफी चुनौतीपूर्ण रहा था।
बता दें कि अर्नोल्ड डिक्स जिनेवा स्थित इंटरनेशनल टनलिंग अंडरग्राउंड स्पेस एसोसिएशन के प्रमुख हैं और वह एक भूविज्ञानी, एक इंजीनियर और एक वकील भी हैं। उन्होंने मिशन के दौरान वादा किया था कि, अगर मिशन सफल होता है, तो वो मंदिर में धन्यवाद जरूर करने जाएंगे, जिसके बाद अर्नोल्ड डिक्स को मंगलवार को बचाव स्थल पर अस्थायी मंदिर में प्रार्थना करते देखा गया था।