अशोक कुमार पुलिस फोर्स के लिए विश्वकर्माःडीजीपी अभिनव कुमार

0
182

देहरादून 30 नवंबर । पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार का तीन साल का कार्यकाल पूरा हो गया। बृहस्पतिवार को प्रदेश की राजधानी दून में स्थित पुलिस लाइन में उनके लिए भव्य विदाई समारोह आयोजित किया गया। आयोजित समारोह में वे अपने भाषण के दौरान अनुभव साझा करते वक्त वह भावुक हो गए।
उत्तराखण्ड के नए डीजीपी अभिनव कुमार ने कहा कि अशोक कुमार पुलिस फोर्स के लिए विश्वकर्मा रहे हैं। उन्होंने आधारभूत ढांचे को मजबूत किया है। नव नियुक्त कार्यकारी डीजीपी अभिनव कुमार ने कहा कि एक राज्य का डीजीपी होना बड़ी जिम्मेदारी होती है। उत्तराखंड का गठन होने के बाद से मैं यहां तैनात हूं। जिस पुलिस बल का गठन मेरे सामने हुआ, आज उसका नेतृत्व करने का मौका मिला है। वहीं अपनी विदाई के मौके पर अशोक कुमार ने कहा कि मुझे खाकी वर्दी ने पुलिस सेवा के ढेर सारे अवसर दिए। उन्होंने कहा कि हम हर चुनौती का सफलतापूर्व सामना करते हुए आगे बढ़े।
अशोक कुमार ने कहा कि 30 नवंबर 2020 में डीजीपी बनने के दौरान ही उनके सामने अपार चुनौतियां थीं। उस वक्त कोविड काल चल रहा था। उन्होंने बताया कि इसके बाद तमाम आपदाएं आईं। पुलिस जनता के लिए बनी है।मैंने हमेशा पुलिस और जनता के बीच की दूरी कम की है।
डीजीपी अशोक कुमार अपने तीन साल के कार्यकाल में पुलिस के लिए कई तरह के काम कर गए हैं।
अशोक कुमार सेवानिवृत्ति से एक दिन पहले हरिद्वार पहुंचे थे। यहां विभिन्न सामाजिक संगठनों ने डीजीपी को 34 साल में उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया। उन्होंने जनता से संवाद भी किया। गंगा आरती में शामिल होने के बाद सीसीआर में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत की। पुलिस अधिकारियों ने उन्हें सम्मानित करते हुए बधाई दी। वहीं सेवानिवृत्त पर सीआरपीएफ उत्तराखंड सेक्टर की ओर से डीजीपी अशोक कुमार का सम्मान किया। इस दौरान डीजीपी ने सीआरपीएफ में रहने के दौरान के अपने अनुभवों को जवानों के साथ साझा किया।