कांवड़ियों की चिकित्सा व्यवस्था जांचने हरिद्वार पहुंचे प्रभारी सचिव चिकित्सा आर राजेश कुमार।

0
203

हरिद्वार 20जुलाई । प्रभारी सचिव (चिकित्सा-स्वास्थ्य) डॉ आर राजेश कुमार आज कांवड़ मेले में चिकित्सीय सुविधाओं से जुड़ी ब्यवस्थाओं को जाँचने अचानक हरिद्वार के काँवड़ मेले और जिला अस्पताल जा पहुंचे। कंवड़ियों से मिल कर उनकी समस्याओं के बारे मे पूछा । उनके लिए जरूरी दवाइयों की व्यवस्था करने के आदेश दिए। जिला अस्पताल में वहाँ सर्जन तथा डॉक्टरों की व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान सामने आई समस्याओं के समाधान का वादा भी किया।मौके पर मौजूद कावड़ियों से प्रभारी सचिव ने बात भी की। कांवड़ मेले में दी गई सुविधाओं और असुविधा के संबंध में उनसे चर्चा की। उन्होंने बताया कि कांवड़ियों के लिए इस यात्रा सीजन में पैरों में होने वाले फंगल इंफेक्शन तथा सांप के काटने की घटनाओं को देखते हुए मेडिकल कैंप में दोनों के ईलाज की व्यवस्था की गई है। हरिद्वार शहर में 25 जगहों पर मेडिकल कैंप लगाया गया हैं। औसतन 1000 लोग प्रतिदिन चिकित्सा कैंप का लाभ ले रहे हैं।

डॉ राजेश कुमार ने बताया कि हरिद्वार में 6 स्थानों पर मुख्य कैंप लगाए गए हैं। इनमें प्रतिदिन औसतन 2000 लोग उपचार ले रहे हैं। हरकी पैड़ी पर मुख्य कैंप लगाया गया है। यहां पर सभी तरह की व्यवस्थाएं और विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम मौजूद है। प्रभारी सचिव जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पर उनको बताया गया कि अस्पताल में सर्जन की व्यवस्था नहीं है।

उन्होंने जल्द से जल्द वहां सर्जन नियुक्त करने का आश्वासन दिया। हरिद्वार के अस्पतालों में जहां भी डॉक्टरों की समस्या है, उसकी सूची जल्द शासन को उपलब्ध कराने को भी कहा। उन्होंने बताया कि गंभीर परिस्थिति में कांवड़ियों को ईलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाने के लिए 24 घंटे एंबुलेंस तैयार है। जरूरी दवाइयों-ऑक्सीजन एवं अन्य उपकरण एंबुलेंस में है। डॉ राजेश ने कहा कि कांवड़ियों समेत पूरे देश से आने वाले श्रद्धालुओं का उत्तराखंड में स्वागत है।