मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने प्रदेश के सभी राजनीतिक दलों के साथ की बैठक

0
51

देहरादून 11 मार्च। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने प्रदेश के सभी राजनीतिक दलों के साथ की बैठक।
*चुनाव प्रचार सामग्री में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल न किया जाए -सीईओ*
*बैठक में चुनाव प्रक्रिया के दौरान राजनैतिक दलों की भूमिका और विभिन्न प्रक्रियाओं की दी गई जानकारी*

मुख्य निर्वाचन अधिकारीडॉ.बी.वी.आर.सी. पुरुषोत्तम की अध्यक्षता में लोकसभा के आगामी सामान्य निर्वाचन हेतु प्रदेश के समस्त मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों एवं पंजीकृत गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के साथ सोमवार को सचिवालय में बैठक आयोजित की गई।
बैठक में मुख्य निर्वाचन अधिकारी में सभी राजनैतिक दलों से निर्वाचन प्रक्रिया को सकुशल संपन्न कराने जाने हेतु अपेक्षित सहयोग की अपील की। बैठक में राजनैतिक दलों के प्रत्याशियों के नामांकन, घोषणा पत्र एवं आचार संहिता के दौरान आयोग की गाइडलाइन दिशा निर्देशों के बारे में विस्तृत जानकारी दी।
बैठक में सभी राजनीतिक दलों से उनके स्टार प्रचारकों की रैलियों, रोड शो एवं अन्य आयोजनों के लिए व्यय के प्रावधान संबंधी जानकारी दी गई। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सभी राजनैतिक दलों से प्रदेश में मतदान प्रतिशत बढ़ाने को लेकर जनता को अधिक से अधिक प्रेरित करने की अपील की। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सभी राजनैतिक दलों को आश्वस्त किया कि निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान किसी भी राजनीतिक दल को किसी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने में अथवा किसी प्रकार की कठिनाई के समाधान के लिए मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय की तरफ से सक्षम अधिकारी स्तर से तत्परता के साथ सहयोग किया जाएगा।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सभी राजनीतिक दलों से यह भी अपील की है कि प्रदेश को प्लास्टिक मुक्त बनाए जाने की दिशा में सहयोग करते हुए चुनाव प्रचार सामग्री में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल न किया जाए।
इस अवसर पर सहायक मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री मस्तू दास ने राजनीतिक दलों को निर्वाचन प्रक्रिया सम्बन्धी दायित्व और विभिन्न विषयों के बारे में विस्तृत प्रस्तुतीकरण दिया। व्यय नोडल मनमोहन मैनाली ने राजनैतिक दलों के रैली, विज्ञापन प्रचार-प्रसार, सोशल मीडिया व्यय सीमा संबंधी जानकारी दी। बैठक में सीविजिल ऐप के बारे में भी जानकारी दी गई।
इस अवसर पर संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीमती नमामि बंसल, प्रताप शाह, सहित मान्यता प्राप्त राजनैतिक दल एवं पंजीकृत गैरमान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।