गोदाम में लगी भीषण आग,तीन लोग जिंदा जले

0
321

हल्द्वानी। दीपावली की देर रात कालाढूंगी रोड स्थित कुमाऊं टैंट हाउस गोदाम में भीषण आग लग गई। इस हादसे में गोदाम में सो रहे रहे तीन लोगों की जलकर दर्दनाक मौत हो गई। जबकि टेंट हाउस का सारा सामान जलकर राख हो गया, सूचना के बाद मौके पर पहुंची अग्निशमन की गाड़ियों ने आग पर मुश्किल से काबू पाया। जानकारी के अनुसार यह घटना रात करीब 12 बजे के आसपास की है। कालाढूंगी रोड स्थित कुमाऊं टेंट हाउस के गोदाम में अचानक आग लग गई। जहां टेंट हाउस के गोदाम में तीन कर्मचारी सो रहे थे। आग लगने के बाद कर्मचारी उसमें से भाग नहीं पाये। जिसके चलते मौके पर ही तीन कर्मचारियों की मौत हो गई। एसपी सिटी हरबंस सिंह ने बताया कि सूचना के बाद मौके पर पहुंची अग्निशमन की छह गाड़ियों ने आग पर काबू पाया। आग से गोदाम का सारा टेंट हाउस का सामान जलकर खाक हो गया। मामले की जांच की जा रही है। सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह ने बताया कि घटना के बाद कमरे में छह लोग सोए हुए थे। आग लगने के बाद कमरे में लोगों को उठाने का प्रयास किया गया। यह सभी कुमाऊं टेंट हाउस के कर्मचारी थे। इनमें उत्तर प्रदेश के रहने वाले सुमेन, लापता प्रसाद, नीरज व उत्तराखंड के रामनगर के रवींद्र कुमार व कृष्णा, नैनीताल के धारी के रोहित पुरी थे। बताया कि 26 वर्षीय रोहित पुरी पुत्र राजेंद्र पुरी निवासी धारी, 32 वर्षीय रविन्द्र कुमार पुत्र चंदन और 25 वर्षीय कृष्णा निवासी मालधन चैड़ की मौत हो गई। वही कुमाऊ टेंट हाउस के स्वामी गिरीश हेडियां ने सी ए फो को बताया कि टेंट हाउस में आग किसी पटाखे से लगी है इस आग से लगभग 50 लख रुपए का नुकसान हुआ है। वार्ड नंबर 11 के पार्षद रवि जोशी का कहना है कि आग की खबर जिसने भी सुनी यह आग बुझाने के लिए दौड़ा चला आया उनका कहना था कि उन्होंने तुरंत सिटी मजिस्ट्रेट रिचा सिंह को फोन किया साथ ही पुलिस को भी सूचना दी बॉक्स तीनों मृतकों के परिजनों को अपने परिवार के सदस्यों की मौत की सूचना मिली तो वह आनंद फानन में हल्द्वानी आ पहुंचे मृतकों के परिजनों की आने की सूचना पर पुलिस ने भी अपनी कमर कसते हुए घटनास्थल के आसपास सुरक्षा की दृष्टि से भारी मात्रा में पुलिस फोर्स तैनात किया इस मौके पर को भूपेंद्र सिंह धोनी, कोतवाल हरेंद्र चैधरी, थानाध्यक्ष नीरज भाकुनी, प्रमोद पाठक, विमल कुमार मिश्रा, भगवान सिंह मैहर सहित पुलिसकर्मी मौजूद रहे।