नरेन्द्रनगर महाविद्यालय को मिली “नैक” बी प्लस ग्रेड की राष्ट्रीय मान्यता।

0
68

बी प्लस ग्रेड वाला बना प्रदेश का पहला डिग्री कॉलेज।

टिहरी । राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद की मूल्यांकन और प्रत्यायन की अंतिम प्रक्रिया पियर टीम के भौतिक मूल्यांकन एवं निरीक्षण के बाद धर्मानंद उनियाल राजकीय महाविद्यालय नरेंद्र नगर बी प्लस ग्रेड हासिल करने में सफल रहा है।
उल्लेखनीय है कि परिषद की एक्जीक्यूटिव कमेटी द्वारा नैक पियर टीम की रिपोर्ट का परीक्षण करने के लिए गठित स्टैंडिंग कमेटी के परीक्षणोंउपरान्त इस आशय की घोषणा की गई है। निदेशक राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद बेंगलुरु ने यह जानकारी कॉलेज प्राचार्य प्रोफेसर आर के उभान को बुधवार को मेल के माध्यम से साझा की है।
नैक मूल्यांकन और प्रत्यायन में बी प्लस ग्रेड प्राप्त होने की सूचना मिलते ही संपूर्ण महाविद्यालय परिवार खुशी से झूम उठा । कालेज प्राचार्य तथा एक दूसरे को बधाई देने का सिलसिला देर रात तक चलता रहा। वही कॉलेज प्राचार्य ने खुद निदेशक, उच्च शिक्षा उत्तराखंड एवं क्षेत्रीय विधायक और प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल को कॉलेज को बी प्लस ग्रेड प्राप्त होने की सूचना दी।
विदित हो कि नैक 7 मानक बिंदुओं की कसौटी पर कसने के बाद ही किसी भी संस्था को विभिन्न स्तरों की ग्रेडिंग प्रदान करती है। परिषद के पत्र के अनुसार महाविद्यालय के बी प्लस ग्रेड की वैधता 27 सितंबर 2023 से अगले 5 वर्षों तक बनी रहेगी। इसके साथ ही अगले चरण में प्रवेश के लिए आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ द्वारा मानकानुसार सुझावित मूल्यांकन परिणाम दस्तावेजों (असेसमेंट आउटकम डॉक्यूमेंट्स) के आधार पर वार्षिक गुणवत्ता आश्वासन रिपोर्ट (ए क्यू ए आर) प्रस्तुत करनी होगी।
बहरहाल राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद के मानकों पर 2.67 सीजीपीए के बी प्लस ग्रेड प्राप्त करने वाला राजकीय महाविघालय नरेंद्र नगर प्रदेश का पहला डिग्री कॉलेज बन गया है जिससे सभी क्षेत्रवासी गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।
कॉलेज प्राचार्य प्रोफेसर राजेश कुमार उभान के कुशल नेतृत्व में महाविद्यालय को प्राप्त इस उपलब्धि का श्रेय उन्होंने संपूर्ण महाविद्यालय परिवार को दिया है। उन्होंने इस उपलब्धि ने लिये कॉलेज प्राध्यापकों एवं कर्मचारियों नैक समिति की संयोजक डॉ सपना कश्यप एवं टीम, आई क्यू ए सी संयोजक डॉक्टर देवेंद्र कुमार, डॉ चंदा नौटियाल एवं टीम, कालेज समितियों मे कार्यरत समस्त स्थानांतरित प्राध्यापक एवं कर्मचारियों,पैरेंट्स एसोसिएशन, स्टूडेंट एलुमनाई, स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं सभी छात्र-छात्राओं का आभार प्रकट किया है। प्राचार्य ने कहा कि महाविद्यालय की कामयाबी का शोर आप सभी की शालीन एवं कठोर मेहनत का परिणाम है, उन्होंने इस अवसर को अग्रिम चरण में प्रवेश की शुरुआत बताया।