अपराधियों की अवैध संपत्तियों को किया जाए सीज: नगन्याल

0
106

डीआईजी गढ़वाल ने एनडीपीएस व गैंगस्टर एक्ट की कार्यवाही में तेजी लाने के दिए निर्देश

देहरादून। एनडीपीएस एक्ट व गैंगस्टर एक्ट के अंतर्गत दर्ज मामलों में आरोपियों की अर्जित की गई अवैध संपत्ति को सीज करने की कार्यवाही की जाए। पुलिस उपमहानिरीक्षक गढवाल परिक्षेत्र करन सिंह नगन्याल ने पुलिस लाइन में जनपद के समस्त अधिकारियों तथा थाना प्रभारियों की बैठक ली। बैठक के दौरान डीआईजी गढ़वाल ने समस्त अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। अपराध होने से पहले ही उसे रोकने पर काम करें, साथ ही आदतन अपराधियों की कुंडली खंगालते हुए उनके खिलाफ गुंडा, गैंगस्टर की कार्यवाही में तेजी लाएं। विगत एक दो वर्षों की लंबित विवेचनाओं का निस्तारण शीघ्र करें। शिकायतकर्ताओं की शिकायत का निस्तारण का समयबद्ध तरीके से करें, जिससे उनकी समस्या का समाधान समय से हो सके। यदि हम शिकायत या विवेचना का निस्तारण समय से करेंगे तो सही मायने में तभी उन्हें न्याय मिल सकेगा। अपराधियों में पुलिस का भय होना बहुत जरूरी है। इस दौरान सभी अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि पुलिस मुख्यालय व उनके कार्यालय स्तर से वांछित आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए चलाए जा रहे अभियानों को प्रार्थमिकता के आधार पर सफल बनाएं। अपने अधिनस्थों को मोटिवेट करें और उन्हें अलग-अलग जिम्मेदारी देते हुए सभी लोग आपस में समन्वय स्थापित कर अच्छी पुलिसिंग पर फोकस करें। जनपद में जितने भी ईनामी और वांछित बदमाश है उन पर थाना क्षेत्रों में अलग-अलग पुलिस टीम गठित कर शत-प्रतिशत कार्यवाही अमल में लाई जाए। एनडीपीएस एक्ट व गैंगस्टर एक्ट के अंतर्गत दर्ज मामलों में आरोपियों की अर्जित की गई अवैध संपत्ति को सीज करने की कार्यवाही की जाए। सीएम हैल्पलाइन के अंतर्गत प्राप्त होने वाली शिकायतों का निस्तारण कराना सुनिश्चित करें। प्रत्येक शिकायत पर घटनास्थल पर जाकर घटना की जानकारी जरूर करें। किसी भी मामले में जांच में किसी भी प्रकार की लापरवाही न की जाए। गुमशुदगी की सूचना प्राप्त होने पर तत्काल गुमशुदगी दर्ज की जाए। नाबालिग गुमशुदगी की सूचना प्राप्त होने पर तत्काल मुकदमा दर्ज किया जाए। इसके अतिरिक्त सभी अधिकारियों व थाना प्रभारियों से उनकी समस्या व विवेचना एवं शिकायतों के विषय में जानकारी प्राप्त की गई तथा उनका समाधान किया गया। बैठक के दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुंवर, पुलिस अधीक्षक यातायात, पुलिस अधीक्षक नगर, पुलिस अधीक्षक देहात, पुलिस अधीक्षक अपराध, जनपद के समस्त क्षेत्राधिकारी तथा सभी थानों के प्रभारी निरीक्षक, थानाध्यक्ष मौजूद रहे।