आईटीबीपी की परीक्षा में पकड़ा गया मुन्ना भाई,परीक्षा के लिए दुसरे को भेजा था

0
233

देहरादून।. थाना बसंत विहार क्षेत्र के अंतर्गत आईटीबीपी स्थित सीमाद्वार सेंटर में जीडी की चल रही परीक्षा में दूसरे के स्थान पर आए युवक को बायोमेट्रिक प्रक्रिया के दौरान पकड़ लिया गया। मामला यह हुआ कि युवक ने लिखित परीक्षा तो पास कर ली थी लेकिन शारीरिक दक्षता परीक्षा के लिए किसी दूसरे को भेज दिया। पुलिस ने पकड़े गए आरोपी को न्यायालय आज न्यायालय में पेश कर जेल भेजेगी। पुलिस के अनुसार आईटीबीपी स्थित सीमा द्वार सेंटर में जीडी (जनरल ड्यूटी) फिजिकल की परीक्षा चल रही है। मंगलवार को एक युवक टेस्ट के लिए पहुंचा और जब अधिकारियों ने उसके बाएं हाथ का अंगूठा बायोमेट्रिक मशीन पर लगाया तो वह लिखित परीक्षा में पास हुए युवक से मेल नहीं हुआ। अधिकारियों द्वारा शक होने के बाद युवक के अन्य दस्तावेजों पर मौजूद निशानों को देखा गया। साथ ही जो फोटो फार्म पर लगी थी वह भी किसी दूसरे की थी। अधिकारी द्वारा युवा से सख्त पूछताछ करने पर पता चला कि युवक राजस्थान के अलवर जिले के अहीर का रहना वाला है। इसका नाम कर्ण सिंह है। उसके बाद अधिकारियों द्वारा आरोपी कर्ण सिंह को थाना वसंत विहार को सौंप दिया गया। थाना बसंत विहारआरोपी द्वारा रकम चुकाने के बाद किसी से कर्ण की लिखित परीक्षा दिलवाई गई। लिखित परीक्षा में वह पास हो गया। पुलिस द्वारा हरियाणा निवासी आरोपी की जांच की जा रही है। एक टीम को हरियाणा भेजने की तैयारी की जा रही है। साथ ही आरोपी को आज न्यायालय में पेश किया जाएगा। प्रभारी नरेश राठौर ने बताया कि आरोपी से पूछताछ के दौरान पता चला कि उसने आईटीबीपी में भर्ती होने के लिए हरियाणा निवासी से आठ लाख रुपए में डील की थी।