बैसाखी पर्व पर श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई आस्था की डूबकी

0
279

हरिद्वार। बैसाखी के मौके पर श्रद्धालु विभिन्न घाटों पर गंगा स्नान कर रहे हैं। श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए प्रशासन और पुलिस की ओर से सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। एहतियात के तौर पर स्नान घाटों के आसपास जल पुलिस के जवानों और एसडीआरएफ की तैनाती की गई है। हरिद्वार में तड़के से ही श्रद्धालु उमड़ने लगी। हरकी पैड़ी क्षेत्र में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचं हरिद्वार में बैसाखी पर्व पर गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं की रौनक बनी रही। गंगा स्नान का यह क्रम गुरुवार दोपहर तक जारी रहेगा।
बैसाखी के मौके पर बुधवार को हरिद्वार मे गंगा स्नान करने वालों की भारी भीड़ देखी जा रही है। दूर-दूर से आये श्रद्धालु हर की पौड़ी पर गंगा में डुबकी लगाते दिखे। स्नान के लिए भारी भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये हैं। बैसाखी के मौके पर हर की पैड़ी पर गंगा स्नान करने वाले श्रद्धालुओं का हुजूम जमा रहा। बैशाखी पर ज्यादातर श्रद्धालु पंजाब, हरियाणा, राजस्थान आदि इलाकों से हरिद्वार पहुंचते हैं.। बैसाखी को खुशहाली का पर्व माना जाता है, इसलिए लोग गंगा स्नान कर पुण्य के साथ ही खुशहाली की कामना करते हैं। ऐसी पंरपरा है कि आज से नई फसल कटनी शुरू होती है। फसलों की कटाई की खुशी में ही इस त्योहार को खुशहाली के पर्व के रूप में देश भर विशेषकर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान व पश्चिमी यूपी मे पूरे उत्साह के साथ मनाया जाता है। वहीं, ज्योतिषिय आधार पर माना जाता है कि जब सूर्य मेष राशि में प्रवेश करता है तो मेष संक्रांति होती है। जब विशाखा नक्षत्र की प्रधानता हो तब बैशाखी का योग बनता है। ऐसे मे गंगा स्नान करने को पुण्यफल देने वाला माना जाता है। बैशाखी पर हरिद्वार में आकर गंगा स्नान करने वाले श्रद्धालुओं का मानना है कि इस अवसर पर गंगा स्नान करने का खासा महत्व है। वे मानते है कि मां गंगा में स्नान करने से मां गंगा सबका कल्याण करती है।