कोटद्वार से चुनाव जीतकर ऋतु खण्डूरी ने लिया अपने पिता की हार का बदला।

0
395

देहरादून। पौड़ी जिले की जिस कोटद्वार विधानसभा सीट से 2012 के विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री रहते हुए भुवन चंद्र खंडूड़ी को हार का सामना करना पड़ा था, उसी कोटद्वार सीट पर उनकी बेटी ऋतु खंडूड़ी ने जीत दर्ज कर पिता की हार का बदला लिया है। कोटद्वार विधानसभा सीट पर बीजेपी प्रत्याशी ऋतु खंडूड़ी ने कांग्रेस उम्मीदवार सुरेंद्र सिंह नेगी को हराया है।
ऋतु खंडूड़ी दूसरी बार विधायक बनी हैं। 2017 के विधासनभा चुनाव में ऋतु खंडूड़ी पौड़ी जिले की यमकेश्वर विधानसभा सीट से चुनाव जीती थीं। हालांकि इस बार बीजेपी ने उन्हें कोटद्वार विधानसभा सीट से मैदान में उतारा था, जहां से कभी मुख्यमंत्री रहते हुए उनके पिता भुवन चंद्र खंडूड़ी की हार हुई थी। 2012 में सुरेंद्र सिंह नेगी ने ही भुवन चंद्र खंडूड़ी को हराया था। खंडूड़ी की हार से बीजेपी की सरकार बनते-बनते रह गई थी। गौरतलब है कि 2012 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने तत्कालीन मुख्यमंत्री भुवन चंद्र खंडूड़ी को कोटद्वार विधानसभा सीट से चुनाव में उतारा था। बीजेपी ने ये चुनाव भी भुवन चंद्र खंडूड़ी के नेतृत्व में ही लड़ा था, लेकिन मुख्यमंत्री होते हुए भी वे हार गए थे। इसके बाद वैसे भी भुवन चंद्र खंडूड़ी ने राजनीति से संन्यास ले लिया था। गौरतलब हो कि 2017 में कोटद्वार सीट पर बीजेपी के प्रत्याशी हरक सिंह रावत जीते थे। हालांकि 2022 में चुनाव से ठीक पहले ही उन्होंने पाला बदल लिया था और अपनी पुत्रवधू से साथ कांग्रेस में शामिल हो गए थे।