हरीश रावत की अच्छे और बुरे कर्मों की समझ भी समाप्त हो गयी है :विनय गोयल

0
282

देहरादून 02मार्च । भाजपा प्रदेश प्रवक्ता विनय गोयल ने कांग्रेसी नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत द्वारा “भाजपा के कर्म खराब” वाले बयान पर तीव्र प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि लगता है कि अब हरीश रावत जी की अच्छे और बुरे कर्मों की समझ भी समाप्त हो गयी है। श्री राम मंदिर का निर्माण, धारा 370 की समाप्ति, केदारनाथ धाम का भव्य पुनर्निर्माण,आलवैदर रोड का निर्माण, ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेललाइन, उत्तराखंड में सभी के स्वास्थ्य के लिये लागू आयुष्मान कार्ड की सुविधा, हर जिला अस्पताल में आईसीयू , उधमसिंहनगर नगर में,एम्स का सैटेलाइट सेंटर,उत्तराखंड में युवाओं को सरकारी नौकरी लिये निशुल्क प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रतिभाग, काशी कारिडोर का भव्य निर्माण, तीन तलाक की समाप्ति, पहले दीपावली और अब होली तक देश के 80 करोड़ लोगों को छः माह से भी अधिक तक मुफ्त राशन,सभी देशवासियों को मुफ्त कोरोना वैक्सीन लगवाना, भारत माता का सम्मान पूरी दुनिया में बढ़ाना उन्हें भाजपा के बुरे कर्म नजर आते हैं और अपने शासन काल में हरीश रावत जी द्वारा अपनी सरकार बचाने के लिए लूट की छूट देते हुए आंखें बंद कर लेना,जुमें की नमाज के लिए छुट्टी देना और विधानसभा चुनाव के समय अपनी पार्टी के विद्रोही प्रत्याशी को बैठाने के लिये देवभूमि उत्तराखंड में मुस्लिम यूनिवर्सिटी खोलने की मांग पर अपनी सहमति देना,सेना के शौर्य का सबूत मांगना और सेना प्रमुख को गली का गुंडा कहना अपना और अपनी पार्टी का अच्छा कर्म मानते हैं।
पिछले विधानसभा चुनावों में दो दो स्थानों पर हार का स्वाद चखकर भी उन्हें अच्छे और बुरे कर्मों को पहचान नहीं हुयी है तो समय ज्यादा दूर नहीं है आने वाली दस मार्च के चुनाव एक बार फिर उन्हें अच्छे और बुरे कर्मों का अन्तर समझा देंगें।