*बंग्लादेश में हिंदुओं के प्रति हिंसा इस्लाम के सिद्वान्तों के खिलाफ : मुफ्ती शमून कासमी*

0
175


देहरादून।राष्ट्रीय सर्व धर्म एकता संघ के संस्रथापक अध्यक्ष और भारत मुस्लिम जागरूकता मंच के अध्यक्ष मुफ्ती शामून कासमी ने बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ हिंसा की कड़ी निंदा करते हुये, संयुक्त राष्ट्र को इसका संज्ञान लेने के लिए लिखा है। उन्होंने कहा कि बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों पर हमले बहुत ही दुखद घटना है और यह स्पष्ट रूप से इस्लाम के मूल सिद्धांतों के खिलाफ है।
उत्तराखंड के देहरादून में मुफ्ती श्री कासमी ने मंगलवार को जारी एक विज्ञप्ति में कहा कि ये घटनाएं मानवता के खिलाफ हैं और इस्लाम धर्म के भी खिलाफ हैं। यह सभ्य लोगों का युग है, राक्षसों का नहीं, ऐसी घटनाओं पर रोक लगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसी हिंसा करने वाले लोग इस्लाम के अनुयायी नहीं हैं। उनका अपना निहित स्वार्थ है और वे पूरे इस्लाम समुदाय को बदनाम कर रहे हैं।
विज्ञप्ति में मुफ्ती ने कहा कि मैं बांग्लादेश सरकार से अपील करता हूं कि ऐसे असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र संघ से भी इस मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की है।