चार धाम यात्रा की निर्बिध्न सफलता के लिए श्री टपकेश्वर मंदिर में सुंदर काण्ड पाठ आयोजित

0
203

देहरादून 05 मई। चार धाम यात्रा की निर्बिध्न सफलता के लिए शुभ मंगल चार धाम(उत्तराखंड) सेवा समिति द्वारा संगीतमई सामूहिक सुन्दर काण्ड पाठ का आयोजन आज टपकेश्वर महादेव मंदिर सत्संग हाल में मंदिर के महंत 108 कृष्ण गिरी जी महाराज के पावन सानिध्य में आचार्य मनोज ढोडीयाल जी और मंडली द्वारा किया गया आचार्य डा0 बिपिन जोशी ने बताया केदारनाथ में 2013 में आई भयंकर प्राकृतिक आपदा के बाद हर वर्ष चार धाम यात्रा आरंभ होने से पूर्व यह आयोजन किया जाता है, श्री टपकेश्वर महादेव मंदिर के श्री महंत कृष्ण गिरी जी महाराज ने चार धाम यात्रा की सफलता के लिए विशेष प्रार्थना की और देश विदेश के श्रद्धालु भक्तों को यात्रा हेतु आमन्त्रित किया, कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने आयोजन की सराहना करती हुवे हनुमान जी महाराज से निर्विध्न चारधाम यात्रा के लिए प्रार्थना की और महंत जी का आशीर्वाद प्राप्त किया, विशेष रूप से पधारे श्री बदरीनाथ धाम के धर्माधिकारी आचार्य राधाकृष्ण थपलियाल जी ने भगवान बदरीनाथ जी का महात्म्य समझाते हुए उपस्थित भक्त समुदाय को शुभ आशीर्वाद प्रदान किया और चार धाम यात्रा की सफलता की कामना की, आचार्य शिव प्रसाद ममगाई जी ने भी विशेष प्रार्थना कर तीर्थों की पवित्रता और मर्यादा बनाए रखने का आह्वान किया, आचार्य मनोज ढोडीयाल और मंडली ने संगीतमई सामूहिक सुन्दर काण्ड का पाठ, भजन कीर्तन और पूजा अर्चना की श्याम सुंदर गोयल, मनोहर लाल जुयाल, आचार्य शिव प्रसाद ममगाई, डा0 सतीश अग्रवाल ने उपस्थित संतों और ब्राह्मणों को मंगल तिलक, पुष्प माला और दक्षिणा उपहार देकर सम्मानित किया , सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ के साथ साथ आरती और विशाल भंडारा किया गया, कार्यक्रम का संचालन आचार्य डा0 बिपिन जोशी ने किया, इस अवसर पर पुजारी भरत गिरी जी महाराज,टपकेश्वर महादेव मंदिर सेवादल, शहर की सभी धार्मिक सामाजिक संस्थाओं के साथ ब्राह्मण संघ से जुड़े पदाधिकारियों का विशेष सहयोग रहा गोपाल गुप्ता, महेश खंडेलवाल, सूर्यकांत धस्माना, विनोद चंदोला, कवि श्रीकांत शर्मा उपस्थित रहे। देवभूमि उत्तराखंड के सुप्रसिद्ध प्राचीनतम सिद्ध मंदिर श्री टपकेश्वर महादेव मंदिर,गढ़ी केंट, देहरादून में चारों धामों की सफल और निर्विघ्न यात्रा की कामना हेतु आचार्य पंडित श्री मनोज ढोंढियाल के श्रीमुख से श्री सुंदर काण्ड पाठ का भव्य आयोजन किया। जिसमें श्री टपकेश्वर महादेव मंदिर के पूज्य महंत श्री माया गिरि जी महाराज,1008 महंत श्री कृष्णागिरि जी महाराज, आचार्य शिवप्रसाद मंमगाई, मनोहर लाल जुयाल,श्याम सुंदर गोयल,चंद्रगुप्त विक्रम, डा० सतीश अग्रवाल, सूर्यकांत धस्माना, विवेकानन्द खंडूरी, डी सी बंसल,अशोक मिश्रा, योगेश अग्रवाल, महेश खंडेलवाल, कवि श्री श्रीकांत श्री,अनुज गर्ग,रुचि अग्रवाल,सरिता गौड़,डॉ शिल्पा, डा तेजस्वी अग्रवाल, अनिल सेठ, मोती दीवान, योगेंद्र अग्रवाल,जे पी गर्ग, रामगोपाल गुप्ता संजीव कुमार, उमेश्वर सिंह रावत, ममगाईं आदि अनेक महानुभावों की गरिमामई उपस्थिति में श्री बद्रीनाथ मंदिर के धर्माधिकारी तथा श्रीमद् भागवत कथा मर्मज्ञ आचार्य शिव प्रसाद ममगाईं का धार्मिक चिन्ह तथा अंगवस्त्र पहना कर सम्मानित किया गया। आचार्य पंडित मनोज ढोंढियाल ने गीत संगीतमय सुंदरकांड वाचन है सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया । आचार्य मनोज ढौंडियाल ने रावण के समक्ष हनुमान का भय रहित परिचय का दोहा”जाके बल लवलेश तब, जीतहू चराचर झारि, तासु दूत मैं जाकरी हरियाहू प्रिय नारि।” श्री सुंदर काण्ड पाठ,श्री हनुमान चालीसा तथा आरती भजन आदि के सम्पूर्ण होने पर अभिनन्दन समारोह का संचालन आचार्य पंडित विपिन जोशी ने किया। श्री सुंदर काण्ड पाठ पूर्ण होने के बाद सभी अतिथियों एवं धर्माचार्यों ने देवभूमि उत्तराखंड के चारों धामों के खुलने के बाद देश विदेश से पधारने वाले दर्शकों की सुखद,सफल और समयबद्ध यात्रा की कामना से हवन,यज्ञ संपन्न करवा कर सभी के पूर्ण स्वस्थ जीवन की कामना की।समारोह समापन पर भव्य भंडारा प्रसाद का सभी ने सहर्ष रस्सावादन किया।