अनुमति खत्म होने के बाद भी नहीं रुका अवैध खनन, छापेमारी करने पहुंची प्रशासनिक अधिकारियों की टीम तो हुए रफूचक्कर

0
129

शामली। जनपद में अनुमति खत्म होने के बावजूद भी अवैध मिट्टी खनन का धंधा जोरों पर चलता पाया गया। शिकायत के बाद एसडीएम के निर्देश पर प्रशासनिक अधिकारियों की एक टीम अवैध मिट्टी खनन पर छापेमारी करने पहुंची तो उससे पहले ही मिट्टी खनन माफिया अपनी जेसीबी मशीन कई ट्रैक्टर ट्राली आदि मौके पर छोड़कर फरार हो चुके थे। हालांकि टीम ने मौके पर पहुंचकर वाहनों को कब्जे में लेकर जांच पड़़ताल शुरू कर दी है। टीम की छापेमारी से अवैध मिट्टी खनन माफियाओं में अफरातफरी मची हुई है।
जानकारी के अनुसार आदर्श मंडी क्षेत्र के कस्बा बनत के जंगलों में 5 दिन पूर्व मिट्टी खनन की अनुमति समाप्त होने के बावजूद भी बनत निवासी  महिला मुनेश के खेत में अवैध मिट्टी खनन माफियाओं का पीला पंजा  लगातार धरती का सीन चीरता मिला जिसकी शिकायत एसडीएम शामली विनय प्रताप सिंह को मिली तो उन्होंने तहसीलदार रविंद्र कुमार, कानूनगो आदि की टीम गठित कर उन्हें मौके पर भेजा लेकिन छापेमारी की सूचना लीक हो गयी जिसके चलते टीम के मौके पर पहुंचने से पहले ही मिट्टी खनन माफिया अपनी जेसीबी मशीन और ट्रैक्टर ट्राली को मौके पर ही छोड़कर फरार हो गए। छापेमारी करने गई टीम ने मशीनों व ट्रैक्टर ट्रालियों को अपने कब्जे में लेते हुए मिट्टी खनन का मौका मुआयना किया और इस संबंध में आवश्यक जानकारी जुटाते हुए अग्रिम कार्रवाई में जुट गई है। टीम की छापेमारी से अवैध खनन करने वालों में अफरातफरी मची हुई है।

नियम कानून को ठेंगा दिखा रहे खनन माफिया
मिट्टी खनन माफिया सभी तरह के नियम कानून को ठेंगा दिखा रहे हैं। ट्रैक्टर ट्रॉलियों में ओवरलोड मिट्टी भरकर उन्हें मनमानी कीमतों पर बेचा जा रहा है जिससे सरकार को राजस्व को बड़ी हानि हो रही है। प्रशासनिक टीम द्वारा की गई छापेमारी से मिट्टी खनन माफियाओं में हड़कंप मचा हुआ है। वही अब देखने वाली बात होगी कि राजस्व को हानि पहुंचाने वाले मिट्टी खनन माफिया पर क्या कार्रवाई होगी।

इन्होंने कहा…
क्षेत्र में किसी भी तरह का अवैध मिट्टी खनन नहीं होने दिया जाएगा। यदि कोई इसके बावजूद भी मिट्टी खनन करता हुआ पाया जाता है तो उसके विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।
-विनय प्रताप भदौरिया, एसडीएम सदर

रिर्पोट : सिद्धार्थ भारद्वाज प्रभारी जनपद शामली उ०प्र०।