करेंट की चपेट मे आकर चालक की मौत

0
201

रूद्रपुर 24 नवंबर । सीवीजी प्लांट पर कूड़े की गाड़ी खाली करने गये चालक विद्युत करेंट की चपेट में आ गया। उसे आनन फानन में जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। वही पोस्टमार्टम हाउस एकत्रित कर्मियों व परिवारजनों समेत अन्य लोगों का गुस्सा ठेकेदार के खिलाफ फूट पड़ा। पोस्टमार्टम हाउस के बाहर जमकर हंगामा किया। परिजनों ने युवक की मौत के लिए ठेकेदार को जिम्मेवार ठहराया है और उसके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। भूतबंगला वार्ड बीस निवासी 25 वर्षीय सुनील कोली पुत्र राम चन्द्र नगर निगम के द्वारा घर घर कूड़े कलेक्शन में लगाई गई गाड़ी का चालक था और ठेकेदार के अधीन था।
मृतक रोजाना की तरह कूड़े की गाड़ी को खाली करने के लिए शहर में स्थापित नगर निगम के सीबीजी प्लांट पर गया था। यहां पर कचरे की रिसाईकिलिंग कर सीएनजी गैस तैयार की जाती है। सुनील जब गाड़ी खाली कर रहा था तभी वह वहां फैल रहे विद्युत करेंट की चपेट में आकर झुलस गया। उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल ले गये। जहां उसे चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर रम्पुरा चैकी प्रभारी केसी आर्या ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना से मृतक के परिवारजनों में कोहराम मचा है। मृतक तीन भाईयों में सबसे बड़ा था। उसके दो बच्चे हैं। घटना के बाद परिवारजनों समेत तमाम लोग पोस्टमार्टम हाउस पहुंच गये। उन्होंने ठेकेदार पर लापरवाही और उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा काटा। इस दौरान ठेकेदार के मैनेजर को भी लोगों ने घेर कर पकड़ लिया। बाद में पुलिस ने उसे छुड़ाया। गुस्साए लोगों ने ठेकेदार के खिलाफ
कार्रवाई की मांग की और मृतक परिवार से एक व्यक्ति को स्थाई नौकरी व मुआवजा देने की मांग की। मृतक के भाई अजय ने बताया कि घटना की सूचना उन्हें एक घंटे बाद दी गयी। लोगों का कहना था कि ठेकेदार कर्मियों का रोजाना गीला कूड़ा नहीं लाने पर काम से निकालने की धमकी देता था। इसके अलावा उसने सुरक्षा के लिए जरूरी व्यवस्थाएं और साधन भी उपलब्ध नहीं कराये थे। सूचना पर भाजपा कांग्रेस के कई नेता भी पोस्टमार्टम हाउस पहुंच गये।