ग्राम कोडरना के पंचायत भवन में आयोजित चौपाल में प्रमुख सचिव (शहरी विकास)ने सुनी जन समस्याएं

0
94

टिहरी 18 नवम्बर । प्रमुख सचिव,शहरी विकास, वन एवं पर्यावरण विभाग, उत्तराखण्ड शासन आर.के. सुधांशु द्वारा शनिवार को ग्राम पंचायत कोडारना, विकास खण्ड नरेन्द्रनगर पहुंचकर चौपाल लगाकर जन समस्याएं सुनी गई। इसके साथ ही राज्य एवं केन्द्र सरकार द्वारा संचालित विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा की गई। इस अवसर पर प्रमुख सचिव द्वारा गांव के पीएचसी का निरीक्षण कर स्वास्थ्य उपकरणों एवं अन्य जानकारी ली गई तथा साफ सफाई का विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये। चौपाल के दौरान प्रमुख सचिव द्वारा अधिकारियो एवं उपस्थित जन समुह को स्वीप के अन्तर्गत मतदान सम्बन्धी शफ्थ दिलाई गई।
ग्राम पंचायत कोडरना के पंचायत भवन में आयोजित चौपाल में प्रमुख सचिव द्वारा सभी मांगो पर जल्द उचित कार्यवाही करने की बात कही गई। प्रमुख सचिव द्वारा दिवली कुण्ड को सड़क मार्ग से जोड़ने के संबंध में लोनिवि के अधिकारियो से जानकारी ली तथा वन राजस्व एवं लोनिवि के अधिकारियो को 26 नवम्बर को संयुक्त सर्वे करने के निर्देश दिये गये। उन्होंने लोनिवि को निर्देश दिये की एक सप्ताह के भीतर मुख्य मार्ग से कोडरना मार्ग पर साईन बोर्ड लगाना सुनिश्चित करें। प्रमुख सचिव ने कहा कि सशक्त उत्तराखण्ड की अवधारणा को प्रभावी बनाये जाने हेतु जनपदों के विकास कार्यों की समीक्षा तथा क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यों के निरीक्षण हेतु उत्तराखंड सरकार द्वारा अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव को माहवार जनपद आवंटित किये गये हैं। इसी क्रम में मैं इस गांव में आया हूँ।
इस मौके पर ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत कोडारना के राजस्व ग्राम कोल में जंगली जानवरों द्वारा कृषि फसलों को नुकसान पहुंचाये जाने की शिकायत करते हुए तारबाड़ की मांग की गई। इसके साथ ही ग्राम पंचायत कोडारना के पंचायत भवन में कम्प्यूटर एवं सीसी टीवी लगाये जाने, ग्राम कुशरेला में मनइच्छा मंदिर में विद्युत लाइन लगाने, क्षेत्र में पुलिस चौकी खोले जाने, खेतों की सिंचाई हेतु पम्पिंग सम्बन्धी विभिन्न मांगें प्रमुख सचिव के समक्ष रखी गई। उन्होंने कहा कि जब तक हम क्षेत्र में नही जायंेगे तब तक जन समस्याओं का पता नहीं चलेगा, इसलिए राज्य सरकार द्वारा अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव को भी ग्राम स्तर पर जानकारी लेने हेतु भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में सबसे बडी समस्या जंगली जानवरों, इंटरनेट कनेक्टिविटी और सड़क की है, जिसके समाधान के लिए समयावधि निर्धारित कर समस्याओ का जल्दी ही निराकरण किया जायेगा। इन शिकायतों के समाधान हेतु सम्बधित सचिव एवं सीडीओ को निर्देशित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि शत प्रतिशत समस्याओं का समाधान के लिए इच्छा शक्ति और सकारात्मक सोच होना जरूरी है।
इस अवसर पर सीडीओ मनीष कुमार द्वारा विभिन्न विभागो की जन कल्याणकारी योजनाओ की जनपद में भौतिक प्रगति की जानकारी दी तथा प्रमुख सचिव को आश्वस्त करते हुए कहा की सभी समस्याओ को
प्राथमिकता के आधार पर हल किया जायेगा ।
इस अवसर पर डीएफओ नरेन्द्रनगर सुमित कंवर, डीडीओ सुनील कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक उमा पंवार व बेसिक वीके ढौंडियाल, सीएओ अभिलाषा भट्ट, एएमए जिला पंचायत संजय खण्डूरी, एसीएमओ दीपा रुबाली, सीवीओ आशुतोष जोशी, डीपीआरओ एम एम खान, डीपीओ सुहेब हुसैन डीएसओ अरुण वर्मा, डीएचओ आर एस वर्मा, एसडीएम नरेन्द्रनगर देवेन्द्र सिंह नेगी, सीओ नरेन्द्रनगर अस्मिता ममगाई सहित क्षेत्र के ग्रामीण उपस्थित रहे।