आपातालीन कवायदों का मॉक ड्रिल

0
168

उत्तरकाशी 17 नवंबर । सिलक्यारा-पॉल गॉव टनल में फंसे श्रमिकों को सुरक्षित बाहर निकालने की कवायद तेज गति से चल रही है। टनल में हैवी ड्रिलिंग मशीन से ड्रिलिंग की कार्यवाही युद्धस्तर पर चल रही है। मौके पर तैनात पुलिस व आपदामोचन बल पुरे तरीके से अलर्ट है, टनल के सेव पेच में पुलिस, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, आईटीबीपी, मेडिकल टीमों व अन्य आपदामोचन बलों द्वारा श्रमिकों को सुरक्षित बाहर निकालने व जरुरत पडने पर अन्य आपातालीन कवायदों का मॉक ड्रिल करवाया जा रहा है।
पुलिस अधीक्षक उत्तरकाशी अर्पण यदुवंशी द्वारा बताया गया कि टनल में अत्याधुनिक मशीनों की मदद से ड्रिलिंग का काम तेज गति से चल रहा है, अन्दर फंसे सभी श्रमिक सुरक्षित हैं, श्रमिकों को समय-समय पर रसद, पानी व ऑक्सीजन की सप्लाई की जा रही है, साथ ही उनका मनोबल बनाये रखने के लिये परिजनों से लगातार बातचीत करवाई जा रही है। पुलिस हेल्प डेस्क से भी परिजनों से सम्पर्क साधकर पल-पल की अपडेट दी जी गही है। यहां पर ड्रिलिंग की कार्यवाही पुरी होने के उपरान्त रेस्क्यू के अगले चरण यानि पाईप के माध्यम से श्रमिकों को सुरक्षित बाहर निकालने व जरुरत पडने पर उनको त्वरित आपातकालीन सहायता मुहैया करवाने के लिये पुलिस, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, आईटीबीपी, मेडिकल व अन्य आपदामोचन बलों का मॉक ड्रिल करवाया जा रहा है, जिससे सभी आपदा मोचन बलों मे एक बेहतर समन्वय बना है तथा किसी भी आपात दशा में सभी साथ मिलकर एक त्वरित व जरुरी सेवा दे सकेंगे। उन्होने बताया कि साईट पर हमारी पुलिस, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, आईटीबीवी व अन्य आपदामोचन बलों की टुकडियां 24 घण्टे मुस्तैद हैं, किसी भी आपात स्थिति में त्वरित रेस्क्यू सेवाएं दी जायेगी। प्रथमिक उपचार हेतु साईट के बाहर ही मेडिकल सहायता केन्द्र बनाये गये हैं।