बाबा की डोली पहुंची धाम, सुबह खुलेंगे कपाट

0
249

धामों में उमड़ने लगी श्रद्धालुओं की भीड़

हरिद्वार से श्रद्धालुओं के जत्थे धाम रवाना

देहरादून 09 मई । उत्तराखंड की विश्व प्रसिद्ध चार धाम यात्रा का आगाज आज हरिद्वार से श्रद्धालुओं के जत्थों की रवानगी के साथ हो गया, कल अक्षय तृतीया के शुभ मुहूर्त में केदारनाथ,गंगोत्री और यमुनोत्री धामों के कपाट खुलने के साथ ही चार धाम यात्रा का विधिवत्त आरंभ हो जाएगा। वही 12 मई को भगवान बद्रीनाथ मंदिर के कपाट भी खुल जाएंगे।
इंतजार की घड़ियां समाप्त हो चुकी है हरिद्वार से लेकर केदारधाम तक बम बम भोले के जयकारों की गूंज से पहाड़ की वादियां गुंजायमान है। बड़ी संख्या में स्थानीय लोग व पर्यटक केदार धाम पहुंच चुके हैं। वही रुद्रप्रयाग में भी बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का जमावड़ा है। आज हरिद्वार से गाजे बाजे और ढोल दमाऊ की धुन पर बाबा के जयकारों के साथ श्रद्धालुओं के पहले जत्थे को रवाना किया गया।
6 माह के इंतजार के बाद कल बाबा अपने ग्रीष्मकालीन प्रवास के दौरान भक्तों को केदार धाम में दर्शनों के लिए उपस्थित रहेंगे। ओंकारेश्वर से चलकर बाबा की चल विग्रह पंचमुखी डोली आज सुबह अपने अंतिम रात्रि विश्राम स्थल गौरीकुंड से धाम के लिए रवाना होकर अपने धाम पहुंच चुकी है। बाबा की डोली धाम पहुंचने पर श्रद्धालुओं ने उनका भव्य स्वागत किया। तय कार्यक्रम के अनुसार कल प्रातः 7 बजे विधि विधान के साथ केदार धाम मंदिर के कपाट खोले जाएंगे और भक्त अपने बाबा के दर्शन कर सकेंगे।
बीते कई दिनों से धाम में तैयारी चल रही है कई क्विंटल फूलों से बाबा के मंदिर की भव्य सज्जा की गई है। स्थानीय व्यवसायियों ने भी अपनी दुकानें सजा दी हैं बड़ी संख्या में भक्त धाम पहुंच चुके हैं और उनके धाम पहुंचने का सिलसिला लगातार जारी है। कपाट खुलने का साक्षी बनने को लेकर श्रद्धालुओं में भारी उत्साह देखा जा रहा है।
उधर कल ही गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के मंदिरों के कपाट भी खोले जाएंगे। मां गंगोत्री की चल विग्रह डोली बीते कल अपने शीतकालीन प्रवास स्थल मुखवा से रवाना होकर भैरव मंदिर पहुंच गई है जहां आज रात्रि विश्राम के बाद कल प्रातः डोली गंगोत्री धाम पहुंचेगी आज रात यहां एक भव्य जागरण का कार्यक्रम भी है। कल अक्षय तृतीया के शुभ अवसर पर गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट भी खुल जाएंगे। जिसकी सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है। गंगोत्री व यमुनोत्री धाम को भी फूलों से सजाया गया है तथा बड़ी संख्या में श्रद्धालु दोनों धाम पहुंच चुके हैं। 12 मईं को बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने के साथ ही चार धाम यात्रा पूर्णतया शुरू हो जाएगी।