मजदूर हत्याकांड का खुलासा, साथी ही निकाला हत्यारोपी

0
66

पिथौरागढ़ 06 मार्च। बीती तीन मार्च हो हुई मजदूर की हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी को धोबीघाट क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आगे कार्यवाही शुरू कर दी है।
पुलिस के अनुसार बीती तीन मार्च को पुलिस को सूचना मिली थी कि केमू स्टेशन पिथौरागढ़ के पास किसी व्यक्ति की लाश पड़ी हुई है। सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची। मृतक के पास से पुलिस को आधार कार्ड मिला, जिसके आधार पर मृतक की शिनाख्त की गई थी।
मृतक की शिनाख्त भगवान चैधरी पुत्र भोला चैधरी निवासी उचवा तुमकड़िया थाना बैरिया जिला पश्चिमी चम्पारण बिहार के रूप में हुई थी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया तो भगवान चैधरी के सिर पर चोट के निशान मिले, जिस वजह से पुलिस ने भगवान चैधरी की हत्या की आशंका जताई थी।
इस संबंध में भगवान चैधरी के भाई ने पिथौरागढ़ कोतवाली में तहरीर दी, जिसके आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए मामले की जांच शुरू की। पिथौरागढ़ एसपी लोकेश्वर सिंह के निर्देश पर मामले के खुलासे के लिए कोतवाली पुलिस और एसओजी की संयुक्त टीम गठित की गई। पुलिस ने इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली तो सामने आया कि दो मार्च की रात को भगवान चैधरी किसी व्यक्ति के साथ घूम रहा था। दोनों ने शराब भी पी थी। पुलिस ने भगवान चैधरी के साथ घूमने और शराब पीने वाले व्यक्ति की पहचान की। आरोपी की पहचान सुबेदार उर्फ पंडित के रूप में हुई, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार किया।
पुलिस पूछताछ में सुबेदार उर्फ पंडित ने अपना जुर्म कबूल किया। पुलिस ने बताया कि दो मार्च की रात को सुबेदार और भगवान चैधरी ने एक साथ शराब पी थी। शराब पीने के बाद भगवान चैधरी, सुबेदार के साथ गाली गलौच करने लगा था। तभी गुस्से में आकर सुबेदार ने भगवान चैधरी को धक्का दे दिया था, जिससे भगवान चैधरी का सिर सीढ़ी से टकरा गया। इतना ही नहीं आरोपी ने भगवान चैधरी के मुंह पर लात भी मारी, जिससे उसकी मौत हो गई।