नकली दवा के बड़े सौदागर की प्रॉपर्टी की गई फ्रीज, हर मुनाफे का होगा अब पूरा हिसाब

0
97

नकली दवाईयां बनाकर मुनाफा कमाने वालो की चल-अचल सम्पत्ति हरिद्वार पुलिस के रडार पर

काली कमाई के दम पर खड़ी इमारतें और लग्जरी गाड़ियों दांव पर, ठोस पैरोकारी पर जिलाधिकारी कार्यालय से आदेश जारी

चिन्हित प्लॉट, मकान, फैक्ट्री व लग्ज़री गाडियां की कीमत करीब ₹ 04 करोड़ 45 लाख

देहरादून 25 फरवरी। थाना भगवानपुर में नकली दवाएं बनाने के मामले में प्रकाश में आए सदस्यों के खिलाफ दर्ज मु०अ०सं०-1103/22 धारा-2/3 गैंगस्टर एक्ट में विवेचना कर रहे थानाध्यक्ष झबरेडा द्वारा ठोस पैरोकारी करते हुए जिलाधिकारी कार्यालय हरिद्वार से कुल 04,44,94,482/ रूपये की सम्पत्ति सीज किये जाने के आदेश पारित कराए जाने में कामयाबी हासिल की।
नकली दवाइयां बेचकर इस गिरोह के गैंगलीडर विशाल और सदस्य पंकज द्वारा अर्जित की गई सम्पत्ति का मूल्यांकन 04,44,94,482/- (चार करोड़ चवालीस लाख चौरानवे हजार चार सौ बयासी रुपए) आंकी गई थी। जहां हरिद्वार पुलिस ने लगातार ठोस पैरवी व अथक प्रयास के फलस्वरूप पहले जिलाधिकारी से आदेश प्राप्त किया तथा तदोपरांत उक्त संपत्ति को जब्त/फ्रीज किया गया।
सीज की गई संपत्ति में गैंगलीडर विशाल के नाम खरीदी गई फैक्टी व जमीन तथा गैंग सदस्य पंकज के पिता/रिश्तेदारों आदि के नाम पर खरीदी गई जमीन व प्रयोग किये जा रहे वाहन शामिल हैं।

*कार्यवाही की जद में आए गैंग सदस्यों का विवरण-*
1- विशाल पुत्र विलाश निवासी अमरावती महाराष्ट्र हाल आनन्द विहार कालोनी मक्खनपुर भगवानपुर (गैंगलीडर)
2- पंकज पुत्र साधुराम निवासी ग्राम बहादरपुर खादर कोतवाली लक्सर हरिद्वार (सदस्य)