सीएम धामी के सचिव एस एन पांडे ने रुद्रपुर में सामाजिक संगठनों तथा मीडिया प्रतिनिधियों के साथ किया संवाद।

0
94

रूद्रपुर 25 अक्टूबर । सचिव मा0 मुख्यमंत्री, आवास, वित्त विभाग उत्तराखंड शासन डॉ.सुरेन्द्र नारायण पाण्डे ने डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम सभागार पहुॅचकर गणमान्य नागरिकों, जनप्रतिनिधियों, सामाजिक संगठनों तथा मीडिया प्रतिनिधियों के साथ संवाद एवं चर्चा की।
बैठक में औद्योगिक संस्थानों से जुड़े संगठनों ने इएसआई होस्पीटल में डॉक्टर्स की कमी, श्रम विभाग द्वारा अनावश्यक परेशान करने सहित विभिन्न समस्याओं से अवगत कराते हुए महत्वपूर्ण सुझाव दिये। पूर्व सैनिक संगठनों के पदाधिकारियों ने सैनिकों ने पूर्व सैनिकों तथा शहीद सैनिकों के परिवारों के लिए योजनाओं एवं नोकरियों में प्राथमिकता दिये जाने, विभिन्न क्षेत्रों में सैनिक मिलन केन्द्र खोलने, सीएसडी केन्टीन संचालन तथा सैनिक कल्याण आदि से सम्बन्धित विभिन्न समस्याएं एवं मांग रखी। पत्रकारों ने पत्रकार सुरक्षा, पत्रकारों के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता तथा वेतन निर्धारित करने आदि से सम्बन्धित मांग रखे, रेड क्रॉस सोसाइटी के सदस्यों ने सोसाइटी संचालन के लिए कक्ष आवंटन की मांग की, शिक्षा से जुड़े संगठनों ने शिक्षकों के प्रमोशन के लिए प्रत्येक वर्ष डीपीसी कराने तथा प्रमोशन समय से दिलाने की मांग की।
बैठक में सचिव डॉ.पाण्डे ने कहा कि सरकार समस्याओं के निस्तारण हेतु बेहद संजीदगी से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा समस्याओं के निस्तारण हेतु सरलीकरण, समाधान, निस्तारण तथा संतुष्टि के आधार पर कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया है। उन्होंने कहा कि इसी आधार पर समस्याओं का निस्तारण भी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जो समस्या जिस स्तर की है, उसका उसी स्तर पर समाधान कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि शासन स्तर की समस्याओं के समाधान हेतु शासन में प्रभावी पैरवी की जायेगी ताकि समस्याओं का तेजी से निस्तारण हो सके।
बैठक में विधायक शिव अरोरा तथा मेयर रामपाल सिंह ने भी विभिन्न समस्याओं के बारे में जानकारी देते हुए विस्तार से चर्चा की। उन्होंने यह भी कहा कि विकास अनन्त काल तक चलने वाली तथा कभी न रूकने वाली सतत् प्रक्रिया है, उन्होंने कहा कि चहुमुखी विकास हेतु सरकार सभी क्षेत्रों में कार्य कर रही है।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विशाल मिश्रा, अपर जिलाधिकारी जय भारत सिंह, परियोजना निदेशक हिमांशु जोशी, जीएम डीआईसी विपिन कुमार सहित संगठनों के पदाधिकारी उपस्थित थे।