ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना निर्माण से प्रभावितों की मांगों की डीएम मयूर दीक्षित ने की सुनवाई ।

0
144

टिहरी19 अक्टूबर । जिलाधिकारी मयूर दीक्षित द्वारा आज गुरुवार को ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना निर्माण से प्रभावितों की मांगों को लेकर सम्बन्धितों के साथ बैठक की गयी।
एलएंडटी गेस्ट हाऊस ब्यासी टिहरी गढ़वाल में आयोजित बैठक में ऋषिकेश- कर्णप्रयाग रेल परियोजना निर्माण के प्रभावितों द्वारा वल्याखन, खगल्या, अटाली व कोडियाला में काश्तकारों के घरों पर आई दरारों का मुआवजा दिए जाने की मांग की गई, जिस पर जिलाधिकारी ने बताया कि इस संबंध में समिति गठित की गई है, तकनीकी सर्वे का कार्य हो चुका है तथा सर्वे रिपोर्ट के अनुसार ही आरवीएनएल द्वारा पूर्ण क्षतिग्रस्त मकानों का पूरा तथा आंशिक क्षति का निर्धारित मानकानुसार जल्द मुआवजा दे दिया जायेगा।
ग्राम सिंगटाली, अटाली के प्रभावितों ने क्षेत्र में पेयजल की समस्याओं से अवगत कराते हुए पेयजल उपलब्ध कराए जाने की मांग की गई, इस पर जिलाधिकारी द्वारा जल संस्थान के अधिकारी को गूलर पेयजल योजना के कार्यों में तेजी लाते हुए एक माह के अन्दर कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए गए। साथ ही जल जीवन मिशन के तहत हर घर पानी पहुंचाने की सुनिश्चितता को लेकर निरीक्षण करने को कहा गया। रात के समय ब्लास्टिंग पर रोक लगाने को लेकर जिलाधिकारी द्वारा आरवीएनएल के अधिकारियों को ब्लास्टिंग का समय निर्धारित कर ब्लास्टिंग से पूर्व सूचना प्रसारित करने के निर्देश दिये गये। इसके साथ ही कुछ काश्तकारों का पुनर्स्थापन एवं पुनर्वास (आरआर प्लान) का पैंसा दिये जाने की मांग पर एडीएम को जल्द धनराशि जारी करने के निर्देश दिये गये। इसके साथ ही परियोजना प्रभावितों ने अटाली गांव, कोडियाला से गंगल्सी जाने वाले मार्ग का निर्माण करवाए जाने, परियोजना निर्माण हेतु ब्यासी में काश्तकारों व व्यवसायियों के राफ्टिंग कैम्प अधिग्रहण का मुआवजा देने, कोडियाला में डंपिंग जोन निर्माण से जुड़ी समस्याओं पर कार्यवाही करने तथा कोडियाला में खेल मैदान के चारों तरफ सुरक्षा दीवार लगाए जाने की मांग की गई, जिस पर संबंधितों को नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही करने को कहा गया।
बैठक में डीएफओ नरेन्द्रनगर अमित कंवर, एडीएम के.के. मिश्रा, एसडीएम नरेन्द्र नगर देवेन्द्र नेगी, एसडीएम देवप्रयाग सोनिया पंत, परियोजना के अधिकारी अजित यादव एवं भूपेंद्र, ईई जल संस्थान देवप्रयाग नरेश पाल, एडीआईओ सूचना भजनी भंडारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।