संदेह के घेरे में आरटीओ कार्यालय देहरादून, दलाल राज,जो चाहे कर दे,आम जन सही के लिए भी भटकती है।

0
101

देहरादून 16 अक्टूबर । संभागीय परिवहन कार्यालय में फर्जी वादे में एक व्यक्ति गिरफ्तार किया गया है ।मामला दिनाँक 25/08/23 को वादी सार्थक शर्मा पुत्र श्री राकेश कुमार शर्मा निवासी 57/5 सालावाला, राजपुर रोड, देहरादून द्वारा थाना डालनवाला पर लिखित तहरीर दी थी की उनके द्वारा ऑनलाइन परिवहन एप्प पर अपने वाहन संख्या UK07BT1769 के विवरण की जांच करने पर उन्हें ज्ञात हुआ कि उनका वाहन किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर पंजीकृत हो रखा है, जब उनके द्वारा अन्य मोबाइल से भी परिवहन एप्प पर अपने उक्त वाहन का विवरण जांचा गया तो उसमें भी उनके नाम की जगह किसी अन्य व्यक्ति मजीद का नाम दर्शाया गया था, इस संबंध में आर.टी.ओ. देहरादून से संपर्क कर उनके द्वारा अपने वाहन से सम्बन्धित फाईल देखी गयी तो उक्त फ़ाइल में किसी व्यक्ति द्वारा व आर.टी.ओ. कार्यालय की मिलीभगत से उनके नाम से किसी अन्य व्यक्ति के फर्जी दस्तावेज व हस्ताक्षर फाईल में लगाए गए थे। उक्त तहरीर के आधार पर थाना डालनवाला पर मु0अ0सं0 – 184/23 धारा 420/467/ 468/471/120 B भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत करते हुए विवेचना प्रारंभ की गई।
दौराने विवेचना पुलिस द्वारा प्रकाश में आये अभियुक्त अजय सैनी पुत्र कर्म सिंह सैनी निवासी ओम सिटी नियर पाम सिटी, थाना पटेलनगर, जनपद देहरादून, उम्र- 43 वर्ष को दिनांक 15-10-2023 को सिल्वर सिटी मॉल के पास से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त की तलाशी लेने पर उसके कब्जे से मुकदमा उपरोक्त से सम्बन्धित वादी की मो0सा0 बुलेट के रजिस्ट्रेशन नम्बर – UK07-BT-1769 की दो आरसी, जिसमें से एक फर्जी सार्थक शर्मा के नाम पर तथा एक ऑरिजिनल आर0सी0, जो माजिद के नाम पर थी , बरामद हुई, साथ ही तीन अन्य आर0सी0 अलग-अलग लोगों की व एक आधार कार्ड बरामद हुआ।
अभियुक्त ने पूछताछ में बताया कि वह आरटीओ ऑफिस में दलाली का काम करता है, उसके द्वारा सार्थक शर्मा की फर्जी आर0सी0 तैयार कर उसके आधार कार्ड को इस्तेमाल कर उसके नाम से एक फर्जी शपथ पत्र, सेल लेटर व एफआईआर गुमशुदगी बनाते हुए उनके आधार पर दिल्ली से चोरी हुए वाहन मो0सा0 बुलेट सिल्बर कलर को माजिद नाम के व्यक्ति को खरीददार दिखाकर उसके नाम पर ट्रान्सफर किया गया था। उक्त कृत्य को करने के लिये अभियुक्त उपरोक्त द्वारा फर्जी शपथ पत्र, सेल लेटर व फर्जी ऑनलाइन गुमशुदगी रिपोर्ट तैयार कर क्रेता व विक्रेता के फर्जी हस्ताक्षर करके पत्रावली तैयार कर आरटीओ ऑफिस देहरादून में जमा करायी गई थी, जिसके आधार पर वादी की मो0सा0 की आर0सी0 को बिना उनकी सहमती/आवेदन के माजिद नाम के क्रेता के नाम पर ट्रांसफर किया गया था। अभियुक्त ने बताया कि इससे पूर्व भी बहुत गाडियों की आ0सी0 व डीएल बना चुका है। उक्त प्रकरण में अन्य लोगों की संलिप्ता भी प्रकाश में आ रही है, जिनके विरूद्ध साक्ष्य संकलन की कार्यवाही प्रचलित है।
नाम पता गिरफ्तार अभियुक्त
अजय सैनी पुत्र कर्म सिंह सैनी निवासी ओम सिटी नियर पाम सिटी, थाना पटेलनगर, जनपद देहरादून, उम्र- 43 वर्ष।
पुलिस टीम :-
1- उ0नि0 ओमप्रकाश सिंह
2- अ0उ0नि0 प्रवीण सिंह
3- कॉ0 अनिरुद्ध सिंह