महिला खिलाडियों ने शानदार क्षमता का प्रदर्शन किया।

0
239

एसएफए चैंपियनशिप के तीसरे दिन वॉलीबॉल रहा आकर्षण केन्द्र

देहरादून 12अक्टूबर । एसएफए चैंपियनशिप के वॉलीबॉल प्रतियोगिता आकर्षण केन्द्र रही। 25 से अधिक टीमों ने वॉलीबॉल में हिस्सा लेकर, एथलीट्स, स्कूलों और दर्शकों को खूब लुभाया। ब्वॉयज अंडर-18 3000 मीटर में महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज के अभय त्यागी ने गोल्ड जीता, महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज से मयंक राठौड़ ने सिल्वर तथा राजा राममोहन रॉय एकेडमी से प्रांजल चांद ने ब्रॉंच जीता।
गर्ल्स अंडर-14, 600मीटर कैटेगरी में रितिका रावत ने गोल्ड, सुहानी भंडार ने सिल्वर और स्वस्थी रस्तोगी ने ब्रॉंच मैडल जीता। लड़कियों ने जबरदस्त उत्साह और जोश का प्रदर्शन किया। अंडर-18 डिस्कस थ्रो में मेधावी रावत पहले, खुशी गुप्ता दूसरे और प्रियंसिता राना तीसरे स्थान पर रहीं। सोशल बालूनी पब्लिक स्कूल से आरूष रावत ने कहा कि ‘मैंने अंडर-15 ब्वॉयज सिंगल्स बैडमिंटन चैंपियनशिप में 2 राउंड जीत लिए हैं और अब गोल्ड मैडल जीतने का लक्ष्य तय किया है। मुझे लगता है कि एसएफए का आयोजन भारत के हर राज्य में होना चाहिए क्योंकि यह बच्चों को सभी प्रकार के खेलों में, सभी कैटेगरीज में खेलने का मौका देता है। और हर प्रतिभागी को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने के लिए प्रोत्साहित करता है। परेड ग्राउण्ड में वॉलीबॉल एवं बैडमिंटन में असाधारण प्रतिभा देखने को मिली, जहां युवा एथलीट्स ने अपने कौशल एवं जोश का प्रदर्शन किया। एसएफए चैंपियनशिप के बारे में बात करते हुए अंडर-14 कैरम चैंपियनशिप के विजेता आदि जैन की मां प्रीति जैन ने कहा कि मुझे खुशी है कि मेरे बेटे के प्रयासों को शानदार परिणाम मिले हैं और मैं आउटडोर खेलों की सराहना करती हूं। एसएफए चैंपियनशिप के चौथे दिन परेड ग्राउंड पर बॉक्सिंग, फेंसिंग, स्पीडकमिंग और टीकवोंडों खेले जाएंगे। वहीं श्री स्पोर्ट्स एकेडमी में स्विमिंग प्रतियोगिता होगी। एसएफए चैंपियनशिप देहरादून में छिपी प्रतिभा को उभारते हुए खेल के क्षेत्र में शहर के टॉप स्कूल की पहचान करने तथा युवा एथलीट्स को नेशनल एवं इंटरनेशनल स्तर पर प्रतिस्पर्धा का मौका देने के लिए निरंतर प्रयासरत है।