करोड़ो की ठगी मामले के आरोपी को एसटीएफ ने किया गिरफ्तार।

0
220

आरोपी को पकड़ने में साइबर क्राइम पुलिस की रही अहम भूमिका।

आरोपी की तलाश का रही थी 18 राज्यों की पुलिस।

देहरादून । दुबई से फर्जी शेल कंपनियों के जरिए भारत भर में करोड़ों रुपए की साइबर ठगी करने वाले एक शातिर को एसटीएफ/साइबर क्राइम पुलिस द्वारा पंजाब से गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रारंभिक जांच में आरोपी द्वारा देशभर में 18 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। पी पी क्रिप्टो ट्रेडिंग घोटालें से जुड़े इस साईबर क्रिमनल के खिलाफ देश के अलग-अलग राज्यों में 392 फाइनेंशियल साइबर फ्रॉड के मामलें दर्ज हैं। जिसकी तलाश 18 राज्यों की पुलिस कर रही थी।
उत्तराखण्ड एसटीएफ के अनुसार इस मामले की प्रारंभिक जांच में न्यूनतम 18 करोड़ का घोटाला सामने आया है। हालांकि अभी कितने बड़े पैमाने में यह घोटाला हुआ है इसकी जानकारी अन्य राज्यों की साइबर पुलिस के साथ सामंजस्य से पता चल पाएगा। क्योंकि गिरफ्तार आरोपी हरमीत सिंह बेदी को आंध्र प्रदेश,असम,बिहार,दिल्ली,कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, बिहार, गुजरात, हिमाचल, केरल, ओडिशा, पंजाब, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, हरियाणा व छत्तीसगढ़ जैसे 18 राज्यों की पुलिस तलाश कर रही थी।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने बताया कि बीते दिनों साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को एक शिकायत मिली थी। जिसमें अज्ञात लोगो द्वारा शिकायतकर्ता सन्नी जैन से व्हाट्सएप के माध्यम से सम्पर्क कर स्वंय को कैरियर बिल्डर कम्पनी के एच.आर. बताकर प्रतिदिन 3 से 8 हजार रुपये कमाने का प्रलोभन दिया गया। इसके बाद एक जॉब ऑफर कर लिंक भेजकर टेलीग्राम एप डाउनलोड करवाकर अपने टेलीग्राम ग्रुप में जोडकर शिकायत कर्ता (वादी) का मोबाईल हैक लिया गया। इसके उपरांत बीते 25 जून को वादी के फोन पर पहले 30 हजार रुपये कटने का टैक्सट मैसेज आया और फिर पता करने पर वादी के खाते से एकाएक अज्ञात व्यक्ति द्वारा 25 जून 2023 को ही अलग अलग ट्रांजेक्शन के माध्यम से कुल 14,18,127 की धोखाधडी कर हड़प लिए गए। मामले की गंभीरता को देखते हुए तहरीर के आधार पर देहरादून साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में तत्काल अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी। देहरादून साइबर क्राइम पुलिस ने इस मामले में घटना में प्रयुत्त मोबाईल नम्बर और साइबर क्रिमिनलों द्वारा शिकायतकर्ता से प्राप्त धनराशि की जानकारी प्राप्त की गयी तो पता चला कि आरोपियों ने शिकायतकर्ता से यू ट्यूब वीडियो लाईक सब्स्क्राईब कर लाभ कमाने के नाम पर धोखाधडी की। ऐसे में जब विस्तृत तकनीकी जांच की गई तो पता चला संदिग्ध साइबर आरोपी लुधियाना (पंजाब) में बैठ कर साइबर ठगी का गोरखधंधा चला रहा हैं। लोकेशन एरिया ट्रेक होते ही देहरादून साइबर पुलिस टीम लुधियाना के सम्बन्धित स्थान में पहुँच गई। पुलिस टीम द्वारा अथक मेहनत एवं प्रयास से साक्ष्य एकत्रित करते हुये देशभर में साइबर ठगी गिरोह के क्रिमिनल हरमीत सिंह बेदी पुत्र बलजीत सिंह बेदी को म.नं. 1855, सैक्टर 32।, चण्डीगढ़ रोड थाना डिविजन नं 07, लुधियाना (पंजाब) से गिरफ्तार कर लिया गया। जिसके पास से घटना में प्रयुक्त 3 मोबाईल फोन मय सिम कार्ड,1अदद चेक बुक,1 यस बैंक का चैक व एक मोहर बरामद किये गये हैं। जिसे न्यायालय में पेश कर अग्रिम कार्यवाही शुरू कर दी गयी है।