रोडवेज कर्मचारियों का 10 अक्टूबर से कार्य बहिष्कार का ऐलान

0
168

संयुक्त मोर्चा की बैठक में लिया निर्णय
ंदेहरादून। उत्तराखंड परिवहन निगम कर्मचारी संयुक्त मोर्चा की बैठक में आंदोलन की रणनीति तय की गई। इसके तहत तीन अक्टूबर को देहरादून में एक दिनी धरना दिया जाएगा,। पांच को हल्द्वानी व छह को टनकपुर में धरना दिया जाएगा तथा 10 अक्टूबर को सचिवालय में प्रदर्शन किया जाएगा। इसी रात से रोडवेज कर्मचारी कार्य बहिष्कार कर हड़ताल पर चले जाएंगे।
रोडवेज कर्मचारी नई बसें खरीदने, डग्गामार वाहनों पर अंकुश लगाने जैसी मांगों को लेकर रोडवेज कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के बैनर तले आंदोलित हैं। इस क्रम में मंगलवार को देहरादून में मोर्चा से जुड़े कर्मचारियों की बैठक आयोजित की गई। उनका कहना था कि रोडवेज अधिकारी निगम की बसों को बढ़ावा देने के बजाय बाहरी प्रदेशों से चलाये जा रहे डग्गामार वाहनों को तवज्जो दे रहे हैं। इसे कर्मचारी बर्दाश्त नहीं करेंगे। उनका कहना था कि पूर्व में रोडवेज प्रबंधन के आश्वासन के बावजूद उनकी मांगों को नजरअंदाज किया जा रहा है। इस क्रम में बीती 11 सितंबर को निगम के एमडी को आंदोलन का नोटिस दिया गया था। मोर्चा संयोजक व रोडवेज कर्मचारी यूनियन के प्रदेश महामंत्री अशोक चैधरी ने कहा कि अप्रैल माह में शासन स्तर पर हुई वार्ता में मांगों को लेकर सकारात्मक निर्णय लेने का आश्वासन दिया गया था। इसके बावजूद कोई सुनवाई नहीं हुई, जुलाई में भी वार्ता के दौरान केवल आश्वासन मिला। उन्होंने बताया कि मोर्चा मृतक आश्रितों को निगम में नियमित सेवा देने, संविदा, आउटसोर्स विशेष श्रेणी चालक-परिचालक को सेवानिवृत्ति या मृत्यु पर दो लाख ग्रेच्युटी देने, तकनीकी संवर्ग के कार्मिकों को भी एसीपी का लाभ देने, आईएसबीटी का स्वामित्व परिवहन निगम को देने, निगम में 600 नई बसें खरीदने जैसी मांगों को लेकर आं