जैन धर्म के पर्युषण पर्व पर मंदिरों में पूजा प्रक्षाल हेतु उमड़े भक्त।

0
252

धार्मिक नाटिका ‘दर्शन प्रतिज्ञा’ की सुंदर प्रस्तुति दी गई

देहरादून 19 सितंबर । पर्वराज पर्युषण महापर्व के अवसर पर मंगलवार को सभी जैन मंदिरों में धूमधाम के साथ प्रक्षाल एवं पूरी भक्ति के साथ श्री जी की पूजा भक्ति आराधना की। मंदिरों की घटिया से मंदिर गूंजायमान रहा। श्री दिगंबर जैन पंचायती मंदिर जैन भवन में पूज्य 105 आर्यिका आनंदमती माताजी के सानिध्य में दसलक्षण विधान प्रारंभ हुआ। शांति धारा एवं अभिषेक का प्रथम सौभाग्य विवेक जैन व्योम जैन खुदबुडा एवं पांडुकशिला पर भगवान का प्रथम कलश एवं शांति धारा करने का सौभाग्य विपिन जैन अक्षत को प्राप्त हुआ। विधान में मांडले पर मुख्य कलश विराजमान करने का सौभाग्य अरुणा जैन एवं चार अन्य कलश सुनीता जैन, अनुज जैन, अमित जैन, प्रवीन जैन, नवीन जैन, संगीता जैन को प्राप्त हुआ। मांडले पर चढ़ने वाले श्रीफल के लिए सौभाग्य राशि जैन को प्राप्त हुआ।
श्री आदिनाथ दिगंबर जैन पंचायती मंदिर माजरा मे क्षुल्लक रत्न समर्पण सागर जी महाराज के सानिध्य में श्री समवशरण महामंडल विधान प्रारम्भ हुआ। संध्याकाल में सभी जिन मंदिरो में श्री जी की महाआरती की गई। इसके पश्चात पूज्य आर्यिका आनंदमति माताजी एवं पूज्य क्षुल्लकरत्न समर्पण सागर जी महाराज के मंगल सानिध्य में संस्कृतिक कार्यक्रम महिला जैन मिलन की ओर से धार्मिक नाटिका ‘दर्शन प्रतिज्ञा’ की सुंदर प्रस्तुति दी गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अमित जैन, राकेश जैन, अमन जैन ने दीप प्रज्वलन किया। कार्यक्रम मे जैन मिलन के मुख्य राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नरेश चंद जैन, जैन भवन मंत्री संदीप जैन, सुखमाल चंद जैन, राजीव जैन, गौरव जैन, आशीष जैन, सुनील जैन, जिनेन्द्र जैन,पंकज जैन, प्रवीण जैन दिनेश जैन अनिल जैन आदिश जैन अमित जैन अभिषेक जैन,पिंकी जैन पूनम जैन शैलबाला जैन संगीता जैन, रश्मि जैन, रविशा जैन,बीना जैन,मोनिका जैन आदि बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।