पुलिसकर्मी की आंख फोड़कर फरार हुआ 50 हजार का ईनामी गिरफ्तार।

0
210

पारदी गैंग का गुलेलबाज बदमाश है आरोपी
देहरादून। पारदी गैंग के गुलेलबाज 50 हजार के ईनामी बदमाश को एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी द्वारा हरिद्वार में अपने साथियों को पुलिस से छुड़ाने के दौरान एक पुलिस कर्मी की गुलेल से आंख फोड़ दी गयी थी।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने बताया कि ’आप्ररेशन प्रहार’ के अनुपालन में एसटीएफ द्वारा निरन्तर शातिर फरार अपराधियों की गिरफ्तारी की जा रही है। उक्त क्रम मे जनपद हरिद्वार से वांछित चल रहे 50 हजार के ईनामी बदमाश विक्रम की सूचना एसटीएफ को प्राप्त होने पर एक टीम को नोएडा दादरी में भेजा गया जहां पर स्थानीय पुलिस की मदद से दबिश देकर एसटीएफ द्वारा उक्त अपराधी विक्रम पुत्र भूरा निवासी मेहताब पार्क आगरा को सीआरपीएफ कैंप के पास नोएडा दादरी रोड से गिरफ्तार किया गया है।
उन्होने बताया कि वर्ष 2022 में जनपद हरिद्वार के विभिन्न क्षेत्रों में लगातार हो रही नकबजनी की वारदातों के अनावरण किए जाने हेतु जनपद पुलिस प्रयासरत थी जिसके लिये दिन रात में पुलिस द्वारा सक्रिय तौर गस्त व चैकिंग की जा रही थी। इस दौरान 26 मई को रात लगभग 2.30 बजे रानीपुर थाने की चीता पुलिस के दो जवानों द्वारा एक संदिग्ध अपराधी को पकड़ कर पूछताछ की जा रही थी। इस दौरान उसके 3 अन्य साथियों द्वारा अचानक आकर उन चीता पुलिस कर्मियों पर हमला कर दिया गया। जिसमें से एक अपराधी द्वारा चीता पुलिस कर्मियों पर गुलेल से हमला कर एक जवान की आँख मे गंभीर चोट मारकर उसे घायल कर दिया तथा दूसरे के सीने पर चोट मार कर घायल कर फरार हो गये। जांच के दौरान सामने आया कि यह घटना पारदी गैंग के लोगों द्वारा की गयी है। जो इन दिनों हरिद्वार के अलगकृअलग क्षेत्रों में नकबजनी की वारदातों को अंजाम दे रहे है। बताया कि उक्त बदमाशों में से एक विक्रम पुत्र भूरा घटना के बाद से लगातार फरार चल रहा था, जिसकी गिरफ्तारी पर 50 हजार रूपये का ईनामी घोषित किया गया था। रू0 का इनाम घोषित किया गया था।
गिरफ्तार आरोपी द्वारा पूछताछ में बताया गया कि हम सात लोगों का गैंग था। जिसने 2022 में जनपद हरिद्वार के थाना कनखल, रानीपुर, सिडकुल में नकबजनी की कई वारदातों को अंजाम दिया था। बताया कि उसी दौरान एक रात को जब हम शिवालिक नगर हरिद्वार में एक घर में चोरी करने के लिए घुसे थे तो उसी समय दो पुलिस वाले गस्त करते हुए अचानक से आ गये और उन्होेंने हमें देख लिया और उन्होंने हमें पकड़ने का प्रयास किया इसके बाद हमने उन पर हमला कर दिया और उनके साथ मारपीट के दौरान एक सिपाही की आंख पर गुलेल से हमला कर लहुलुहान कर दिया जिसके बाद हम उनकी गिरफ्त से छूटकर भाग गये। घटना में शामिल छह बदमाशों को पुलिस पूर्व में ही गिरफ्तार कर चुकी है।