राष्ट्रभाषा हिन्दी दिवस पर आयोजन कर अध्यापकों का किया सम्मान ।

0
256

देहरादून,14 सितम्बर, भारत विकास परिषद गंगोत्री शाखा, देहरादून द्वारा राष्ट्रीय हिन्दी दिवस के अवसर 21 उत्कृष्ट शिक्षको का सम्मान करते हुए एक मुख्य अतिथि श्री नरेश बंसल, सांसद राज्यसभा ने कहा कि वर्तमान में देश बदल रहा है विश्व में भारत का मान सम्मान बढ़ा है उन्होंने भारत विकास परिषद गंगोत्री शाखा के आयोजन को भी सकारात्मक बदलाव की कड़ी बताते हुए कहा कि इस संस्था की टीम ने बहुत उत्कृष्ट अध्यापकों को सम्मान हेतु चुनकर बहुत बड़ा कार्य किया। इस अवसर पर भारत विकास परिषद गंगोत्री शाखा के संरक्षक शिक्षाविद रोशन लाल अग्रवाल ने कहा कि हिंदी का नि केवल भारतवंशियो के दिल में अपितु विश्व में रहने वाले भारतीयो के दिल में बहुत बड़ा स्थान है। संस्था अध्यक्ष योगेश अग्रवाल ने संस्था द्वारा कृत कार्यों की जानकारी प्रदान करते हुए चयनित आदर्श शिक्षकों के नाम की घोषणा की। आदर्श शिक्षक सम्मान समारोह में डा० श्रीमती निधि खण्डूरी, श्रीमती कल्पना बिष्ट, श्रीमती स्वाति आनंद, श्रीमती शालिनी गोयल, विशाल जिंदल,स्वामी एस चंद्रा,दिव्यांगजन सचिव वडेरा, विकास नगर से निशांत पंवार, चरणजीत सिंह सोई, रुड़की लक्सर से डा० समय सिंह सैनी, डॉ सुनील अग्रवाल, विकास बंसल, दुर्गा प्रसाद वर्मा, राकेश काला,सुनील जैन, सुरेंद्र सिंह बिष्ट, विकास बंसल,संजीत पांडे, डॉ हुकुमसिंह रावत,आशू सिंघल, संजय गर्ग जैसे सुयोग्य प्रतिभावान उत्कृष्ट शिक्षको को आदर्श शिक्षक सम्मान से अलंकृत किया गया। समारोह में विशिष्ट अतिथि के रुप में भारत विकास परिषद के प्रांतीय वित्त सचिव रोहित कोचग्वें,कोटक महेंद्रा बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक नीरज त्रिपाठी, समाजसेवी हरीश मित्तल,वीर रस के कवि श्री श्रीकांत श्री,पदमश्री डा० बी के एस संजय ने भी आयोजन की सराहना करते मंगलकामनाएं प्रदान की। समारोह में गायक पीयूष निगम,संदीप अग्रवाल, चरणजीत सिंह सोई,तथा अमित रावत ने भी राष्ट्रीय गीतों को प्रस्तुत कर सभी का मन मोह लिया । समारोह का संचालन अध्यक्ष योगेश अग्रवाल ने किया। समारोह में विजयलक्ष्मी अग्रवाल, सूरज प्रकाश अग्रवाल, डा राजकुमार उपाध्याय, योग गुरु आशीषजी, पर्यावरणविद् जगदीश बावला,ज्ञानेंद्र कुमार, अशोक शर्मा,जे बी गोयल,संजय भटनागर,अनिल सेठ,मोती दीवान,बालेश गुप्ता, प्रेरणा मित्तल, जितेंद्र काम्बोज, मेनपाल सैनी,रविराज, आदि अनेक महानुभाव की गरिमामयी उपस्थिति ने आयोजन की भूरी भूरी सराहना की।