बागेश्वर उपचुनाव- कांग्रेस बोली- ‘धन बल से जीती चुनाव’

0
203

बागेश्वर के जनादेश पर भाजपा गदगद

बागेश्वर। उत्तराखंड के बागेश्वर उपचुनाव में बीजेपी प्रत्याशी पार्वती दास ने जीत दर्ज की है। उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी कांग्रेस प्रत्याशी बसंत कुमार को 2405 मतों से हराया है। इस चुनाव में पार्वती दास को 33,247 और बसंत कुमार को 30,842 वोट मिले। जिस पर बागेश्वर के प्रभारी मंत्री सौरभ बहुगुणा ने इसे बीजेपी की रीति नीति और बागेश्वर की जनता की जीत बताया है। वहीं कांग्रेस ने बीजेपी पर सरकारी धनबल का गलत इस्तेमाल कर चुनाव जीतने का आरोप लगाया है।
बागेश्वर उपचुनाव में बीजेपी ने 2405 वोटों से चुनाव जीत लिया है तो वहीं दूसरे नंबर पर रही कांग्रेस को एक बार फिर से हार का मुंह देखना पड़ा है। बागेश्वर उपचुनाव के परिणाम के बाद बागेश्वर के प्रभारी मंत्री सौरभ बहुगुणा ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने जिस तरह से एक तरफ इंडिया ब्लॉक के तहत कांग्रेस चुनाव लड़ने का प्रयास कर रही थी तो उन्हें बागेश्वर की जनता ने जवाब दे दिया है।

बीजेपी की रीति नीति और सिद्धांतों के साथ थी जनता
सौरभ बहुगुणा ने कहा कि उन्होंने चुनाव से पहले कई बार जनता के बीच में जाकर उनका मन टटोला था। जिसमें उन्होंने पाया था कि बागेश्वर की जनता बीजेपी की रीति नीति और उनके सिद्धांतों के साथ थी। अब चुनाव परिणाम में यह बात साबित हुआ है।ठंहमेीूंत इल मसमबजपवद तमंबजपवदकांग्रेस नेता यशपाल आर्यकैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा ने कहा कि बागेश्वर उपचुनाव की जीत से निश्चित तौर पर आगामी निकाय और लोकसभा चुनाव पर भी इसका असर पड़ेगा। उत्तराखंड में बीजेपी की रीति नीति और सिद्धांतों के प्रति लोगों का लगाव है, वो हर चुनाव में देखने को मिलता है। आगामी लोकसभा चुनाव 2024 में भी उत्तराखंड की पांचों सीट पर बीजेपी इसी तरह से जीत हासिल करेगी।

कांग्रेस ने लगाया धन बल से चुनाव जीतने का आरोप
दूसरी ओर बागेश्वर में मिली हार पर कांग्रेस नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि बागेश्वर में कांग्रेस ने काफी अच्छी टक्कर दी। इसके लिए वो बागेश्वर की जनता का आभार व्यक्त करते हैं।

बीजेपी ने किया धन बल और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग
हालांकि, चुनाव परिणाम अपने पक्ष में न आने पर कांग्रेस नेता यशपाल आर्य ने आरोप लगाते हुए कहा कि जिस तरह से बागेश्वर उपचुनाव में सत्ता पक्ष ने धन बल और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया है, उसके हिसाब से कांग्रेस ने बागेश्वर में बेहद अच्छी टक्कर दी है।

बागेश्वर में गरीबों और किसानों की हुई हार
कांग्रेस नेता यशपाल आर्य का ये भी कहना है कि बागेश्वर में भले ही कांग्रेस हार गई है, लेकिन जिस तरह से बीजेपी पूरे प्रदेश में इस वक्त गरीबों और आम लोगों के हक हकूक के साथ खिलवाड़ कर रही है। निश्चित तौर से बागेश्वर में भी बीजेपी के जीतने के बाद कहीं न कहीं आम दलित और किसानों की हार हुई है।