बागेश्वर उपचुनावः पकड़ी गयी कांग्रेस प्रत्याशी प्रचार सामग्री और नगदी

0
217

कांग्रेस ने बताया इसे प्रत्याशी की वैध समग्री,प्रदेश सरकार पर लगाया सरकारी मश्नीरी के दुरोपयोग का आरोप

देहरादून। बागेश्वर उपचुनाव के लिए प्रचार जोरों पर है। तो वहीं निर्वाचन आयोग भी इस दौरान पूरी तरह से अपने कार्यो को अंजाम दे रहा है।
बागेश्वर में शांतिपूर्वक उपचुनाव कराने के लिए पुलिस टीम लगातार चेकिंग कर रही है। बागेश्वर में बैजनाथ गेट के पास एक वाहन से एक लाख 83 हजार की धनराशि और प्रचार सामग्री पुलिस टीम ने बरामद की है। पुलिस की जांच में चालक मुकेश चंद्र निवासी ग्राम भूमिका प्रचार सामग्री और नगद धनराशि को लेकर कोई भी दस्तावेज या वैध प्रमाण उपलब्ध नहीं करा पाया। जिसको देखते हुए पुलिस ने चुनाव आदर्श आचार संहिता के मद्देनजर धनराशि और प्रचार सामग्री अपने कब्जे में ले ली। आरओ एसडीएम हर गिरी के अनुसार, बरामद रकम ट्रेजरी में जमा कर दी है। गठित टीम द्वारा मामले की जांच की जाएगी।
बागेश्वर के कांग्रेस जिला अध्यक्ष भागवत डसीला का कहना है कि पुलिस ने जो धनराशि पकड़ी है, वह प्रत्याशी के खर्चे की धनराशि है और पूरी तरह से वैध है। इसका हिसाब देकर धनराशि वापस ले ली जाएगी। मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने एक बार फिर बागेश्वर उपचुनाव को लेकर जिला प्रशासन की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। इस संबंध में कांग्रेस पदाधिकारियों ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉक्टर वी षणमुगम को ज्ञापन भी सौंपा है।
कांग्रेसियों का आरोप है कि बागेश्वर उपचुनाव में सत्ताधारी दल खुलेआम प्रशासनिक और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर रहा है। हालात यह है कि पंचायत प्रतिनिधियों पर दबाव डालकर भाजपा के पक्ष में प्रचार करने के लिए कहा जा रहा है। कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा कार्यकर्ता खुलेआम सरकारी संपत्तियों पर पोस्टर बैनर लगा रहे हैं, जबकि कांग्रेसियों को सामान्य प्रचार करने से भी रोका जा रहा है। उनका आरोप है कि स्थानीय प्रशासन और जिला निर्वाचन विभाग भी इस मामले में मूकदर्शक बना हुआ है। बता दें कि कांग्रेस की ओर से बसंत कुमार और बीजेपी की ओर से पार्वती देवी चुनाव मैदान में हैं।