सर्राफा व्यापारी के यहां हुई चोरी का खुलासाः सोने के साथ तीन आरोपी गिरफ्तार

0
61

देहरादून। पुलिस ने सर्राफा व्यापारी के यहां हुई चोरी का खुलासा करते हुए 230 ग्राम सोने के साथ दो लोगों को दिल्ली व एक को दून से गिरफ्तार कर कर उनको न्यायालय में पेश किया जहां से उनको न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।
आज यहां इसकी जानकारी देते हुए डीआईजीध्एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर बताया कि अजय वर्मा पुत्र ओमवीर वर्मा निवासी सरस्वती मार्केट धामावाला बाजार देहरादून द्वारा चैकी लक्खीबाग पर तहरीर देकर बताया गया कि 19 अगस्त 2023 को प्रातः 10 बजे जब वह दुकान पर पहुँचे तो उनका कारीगर सोमनाथ अधिकारी दुकान पर मौजूद नही मिला, जब उनके द्वारा दुकान में रखा हुआ सोने का सामान चैक किया गया तो पाया कि 230 ग्राम सोना भी गायब था। जब उनके द्वारा कारीगर सोमनाथ को फोन मिलाया तो उसका फोन लगातार बन्द आ रहा था। पुलिस ने कारीगर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि सोमनाथ अधिकारी द्वारा मुम्बई के कुछ नम्बरों पर लगातार बात की जा रही है। यह भी ज्ञात हुआ कि उसके द्वारा अपना फोन 19 अगस्त को दिल्ली के निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन के पास बन्द किया गया, जिस पर पुलिस ने दिल्ली पहुंच कर छानबीन की तो पुलिस को जानकारी मिली कि 22 अगस्त को सोमनाथ अधिकारी अजय वर्मा की दुकान से चुराये हुये माल व मुम्बई निवासी साथी सहित मुम्बई जाने वाला है। सूचना पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से सोमनाथ अधिकारी तथा उसके अन्य साथी दीवाकर पाल को चुराये हुये 200 ग्राम सोने सहित गिरफ्तार किया गया। जिनके द्वारा पूछताछ में घटना में अजय वर्मा की दुकान पर काम करने वाले एक अन्य कारीगर राजीव सामन्तों का भी शामिल होना बताया गया। जिसे पुलिस द्वारा आज राजा रोड देहरादून से चुराये गये 30 ग्राम सोने के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ में सोमनाथ अधिकारी द्वारा बताया गया कि अजय वर्मा द्वारा उसको आभूषण तैयार किये जाने हेतु 200 से 250 ग्राम सोना दिया जाता था। पिछले काफी समय से उसके घर पर आर्थिक तंगी चल रही है, जिस कारण जून माह में उसने अजय वर्मा द्वारा दिये गये सोने मे से 20 ग्राम सोना बेचकर उससे प्राप्त धनराशि को अपने घर भिजवाया था। लेकिन इस बात का पता अजय वर्मा को चल गया, जिसके बाद उनके द्वारा उससे अपना 20 ग्राम सोना वापस मांगा गया, किन्तु आर्थिक स्थिति सही नही होने के कारण वह सोना लौटाने में सक्षम नही था। इस पर उसने अपने साथ में काम करने वाले कारीगर राजीव सामन्तों के साथ मिलकर उक्त चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। उसका साथ देने के लिये राजीव सामन्तो ने उससे 30 ग्राम सोना लिया। बहरहाल पुलिस ने तीनों आरोपियों को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है।