मानवता को बचाने की जरूरतः रवि चोपड़ा ‘एक शाम इंसानियत के नाम’ मुशायरा-कवि सम्मेलन आयोजित।

0
245

शायरों-कवियों ने श्रोत्राओं को किया मंत्रमुगध

देहरादून 16अगस्त। देश की एकता व अखंड़ता के लिये हम सबको एक साथ मिल कर काम करने ओर जो आजादी मिली है, उसके लिये भाईचारा व मानवता को मजबूत करने की जरूरत है। यह बात जीएमएस रोड स्थित एक होटल में ‘एक शाम इंसानियत के नाम’ यौम-ए-आजदी की पूर्व संध्या पर आयोजित मुशायरा एवं कवि सम्मेलन की अध्यक्षता करते हुए पर्यावरण विद रवि चोपड़ा ने कही। उन्होने कहा कि आज हम आजादी का अमृत महोत्सव मना रहें है, हमारी वाणी में भी अमृत बस जाए, संयम प्रदर्शित हो, ऐसा व्यवहार करने की अवयकश्ता है। विशिष्ट अतिथि कृष्ण अवतार ने कहा कि हमारी वाणी और आचरण एक जैसे होने चाहिए। स्वामी अजय पाल ने कहा कि हमने धर्म को समझा ही नही है, अगर सब वास्तव में अपने-अपने धर्म को जीवन में उतार ले तो कोई विवाद ही नही होगा।
इस मौके पर मुख्य अतिथि एशिया कार्विंग्स के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. सरफराज हसन ने जंग-ए-आजादी में दिये गये योगदान पर प्रकाश डाला। कहा कि आज का यह कार्यक्रम एकता, भाईचारे व अमन का संदेश देता है, हमारे पूर्वजों ने एक साथ मिल कर जिस प्रकार आजादी का संग्राम जीता वैसे ही आज देश के निमार्ण में हम सबकों मिलकर काम करना होगा। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि डॉ.एस फारुक, ब्रिगेडियर.केजी बहल, डॉ. एमएस अंसारी, जीएस जस्सल, के. एम. अग्रवाल ने भी संबोधित किया। मुशायरे का आगाज शमा रोशन व राष्ट्रगान के साथ हुआ। इस अवसर पर गुलफाम अहमद ने तराना व जिकरिया गौहर, कय्यूम बिस्मिल, शौहर जलालाबादी, रईस फिगार, इनाम रम्जी, इम्तियाज अकबराबादी, नदीम बर्नी, शादाब मशहदी, अंबर खरबंदा, जसविंद्र हलदार ने अपनी शायरी-कविता से उपस्थित श्रोत्रागणों को मंत्रमुगध कर दिया। एशिया कार्विंग्स व एनएपीएसआर की ओर से आयोजित मुशायरे में समाजिक क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले पत्रकार जय सिंह रावत, मास्टर आबिद हसन अंसारी, आरिफ खान, जीएस जस्सल, मोहम्मद यूसुफ, बीना शर्मा बुक बैंक, शेरिंग लुडिंग तारा फाउंडेशन को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम का संचालन मौहम्मद शाहनजर ने किया।