उत्तराखण्ड की जमीनों को नहीं लुटने देंगें-धामी

0
163

अंतिम दोषी की गिरफ्तारी तक जांच जारी रहेगी

राज्य के युवाओं के साथ नहीं होने देंगें अन्याय
देहरादून। यूं तो मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अब तक राज्य को 2025 तक मॉडल राज्य बनाने, नशा मुक्त राज्य बनाने और भ्रष्टाचार मुक्त राज्य बनाने तथा सिविल यूनिफॉर्म कोड लागू करने वाला देश का पहला राज्य बनाने सहित अनेक संकल्प ले चुके हैं लेकिन आज उन्होंने एक और नया संकल्प लिया है और वह है राज्य की जमीनों को न लुटने देने का संकल्प।
आज राजपुर रोड पर एक कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि उनका संकल्प है कि वह राज्य की जमीनों को नहीं लुटने देंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में जिस तरह से कुछ बाहरी लोगों द्वारा राज्य के लोगों की मिलीभगत से लोगों की जमीनों को कौड़ियों के भाव खरीदा जा रहा था और भूमिधर कोे भूमिहीन बनाने का काम किया जा रहा था उसके कारण लंबे समय से राज्य में एक सशक्त भू कानून की मांग की जा रही थी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार बहुत जल्द एक सशक्त भू कानून लाएगी। समिति ने सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है अब इसमें और क्या संशोधन हो सकते हैं इस पर विचार के बाद बहुत जल्द नया भू कानून लाया जाएगा और कहा कि उत्तराखंड आने पर और उत्तराखंड में काम धंधा करने तथा निवेश करने पर कोई पाबंदी नहीं होगी लेकिन उनका संकल्प है कि वह जमीनों की लूट नहीं होने देंगे और इसके लिए हिमाचल की तरह एक सख्त कानून बहुत जल्दी लाया जाएगा।
यूकेएसएसएससी पेपर लीक और घोटाले के बारे में उन्होंने कहा कि इस मामले की सही दिशा में जांच चल रही है और यह जांच तब तक जारी रहेगी जब तक अंतिम दोषी की गिरफ्तारी नहीं हो जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य के युवा और बेरोजगारों के साथ जो छल और धोखा किया गया वैसा भविष्य में फिर कभी न हो इसलिए नौकरियों में हुई धांधली कि यह जांच बहुत जरूरी है। एक बार फिर दोहराया कि राज्य के युवाओं को न्याय जरूर मिलेगा।