श्री बालेश्वर अग्रवाल का जीवन दर्शन समाज के लिए सदैव प्रेरक रहेगा -श्याम परांडे

0
441

अंतर्राष्ट्रीय सहयोग परिषद द्वारा आयोजित श्री बालेश्वर अग्रवाल जन्मदिवस शताब्दी समारोह का देहरादून के पटेलनगर स्तिथ एक होटल में हुआ सफल आयोजन ।

देहरादून08 मई । अंतर्राष्ट्रीय सहयोग परिषद द्वारा प्रवासी भारतीयों में भारतीय संस्कार और संस्कृति के संरक्षण हेतु समर्पित श्री बालेश्वर अग्रवाल जी का जन्म शताब्दी के आयोजन समारोह में मुख्य अतिथि के रुप में देहली से पधारे श्याम केशव जी परांडे, महामंत्री ने कहा राष्ट्रप्रेम और अनुशासन के माध्यम से बालेश्वर अग्रवाल ने अंतर्राष्ट्रीय सहयोग परिषद की स्थापना कर प्रवासी भारतीयों को एकता के सूत्र में जोड़ने का ऐतिहासिक कार्य किया। जिसकी सभी सरकारों द्वारा मुक्तकंठ से सराहना की गई। इस अवसर पर मुख्य वक्ता विश्व संवाद केन्द्र के निदेशक विजय कुमार ने कहा कि बालेश्वर अग्रवाल ने अपने जीवन काल में अंतराष्ट्रीय सहयोग परिषद की स्थापना कर ऐतिहासिक कार्य किया। मुख्य अतिथि श्री परांडे ने बताया कि वर्ष 1975 में इलाहाबाद उच्च न्यायालय से तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के विरुद्ध आये निर्णय को रोकने के लिए तत्कालीन सूचना एवं प्रसारण मंत्री भारत सरकार विद्या चरण शुक्ल और तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के भारी दबाव के बावजूद बालेश्वर अग्रवाल ने हिंदुस्थान समाचार के माध्यम से अपने पत्रकारीय धर्म का पालन किया। समारोह में मुख्य वक्ता के रुप में विश्व संवाद केन्द्र के डायरेक्टर विजय कुमार ने बालेश्वर अग्रवाल के अनुशासन राष्ट्र प्रेम और प्रेम के प्रसंग प्रस्तुत कर टेलीप्रिंटर के माध्यम से हिन्दी मानसिकता की पत्रकारिता के उदाहरण प्रस्तुत किए। अंतर्राष्ट्रीय सहयोग परिषद देहरादून के अध्यक्ष एस एस कोठियाल पूर्व आई जी ने सभी अतिथियों के स्वागत सम्मान में सम्बोधित करते हुए देहरादून चेप्टर द्वारा कृत प्रगति कार्यों से अवगत करवाया। संस्था के वरिष्ठ उपाध्यक्ष दयानंद चंदौला ने बालेश्वर अग्रवाल के प्रेरक जीवनदर्शन पर प्रकाश डाला। समारोह में प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक विण्डलास ने मनोहारी राम भजन, कवयित्री डोली डबराल ने मां की प्रभावी कविता प्रस्तुत कर तथा मधु बैरी ने कलर थैरेपी पर प्रंसग प्रस्तुत कर समारोह को रोचक बनाया। इस अवसर पर राष्ट्रीय सहारा समाचार पत्र के सम्पादक जितेंद्र नेगी का अभिनंदन/ सम्मान भी किया गया। सम्मान प्राप्त करने के बाद जितेंद्र नेगी ने कहा कि इस प्रकार के सार्वजनिक अभिनन्दन और सम्मान से सम्मान प्राप्त करने वालों की समाज के प्रति जिम्मेदारी और अधिक बढ़ जाती है। समारोह में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग परिषद देहरादून चेप्टर के अध्यक्ष एस कोठियाल एवं उत्तराखंड के अध्यक्ष राजीव बैरी द्वारा पुष्प कली से सभी अतिथियों का स्वागत किया। समारोह को प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ एस फारुख, डा नवीन जोशी, एसोसियेट प्रोफेसर उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय ने भी संबोधित किया। डॉ मंजु भट्ट ने अप्रैल 2022 माह में सम्पन्न काशी विश्वनाथ बनारस यात्रा का सजीव वर्णन प्रस्तुत किया। इस अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय सहयोग परिषद में 12 नये बने सदस्यों का स्वागत किया गया।समारोह का संचालन अंतर्राष्ट्रीय सहयोग परिषद के सचिव कैप्टन सुधांशु कुकरेती तथा पी आर ओ योगेश अग्रवाल द्वारा संयुक्त रूप से किया। दो घंटे से अधिक चले मौन प्रार्थना से शुभारम्भित समारोह में मसूरी चेप्टर के अध्यक्ष मनोरंजन त्रिपाठी (पूर्व आई जी) व संयुक्त सचिव सरोज जैन तथा ऋषिकेश चेप्टर के अध्यक्ष अविनाश चंद्र ओहरी, अशोक शर्मा, प्रवीण ममगाईं,अजीत सिंह तोमर,पी सी डंगवाल,प्रीति गोदियाल,डी के भट्ट ,टी आर उनियाल, डॉ मुकेश‌ गोयल,अरुण शेखर बहुगुणा, योगेन्द्र अग्रवाल,आर के बक्शी,जे पी सेमवाल,उमाचंद्र विक्रम, शालिनी कोठियाल, अरशू अली सहित अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे। समारोह में आये सभी अतिथियों का आभार ज्ञापन प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्रगुप्त विक्रम ने किया। अंतरराष्ट्रीय सहयोग परिषद उत्तराखंड के अध्यक्ष राजीव बैरी द्वारा परिषद द्वारा कृत प्रगति कार्यों की जानकारी देते हुए बताया कि अन्तर्राष्ट्रीय सहयोग परिषद के पदाधिकारियों द्वारा की गयी विदेश सद्भावना यात्राओं में उज़्बेकिस्तान, इंडोनेशिया, समरकंद,बाली, हांगकांग, मकाओ,चीन, फ्रांस, मारीशस आदि देशों की यात्राओं के प्रसंग सुनाये गये । श्री राजीव बैरी ने बताया कि अन्तर्राष्ट्रीय सहयोग परिषद जैसी प्रभावी संस्था के संस्थापकों में से एक बालेश्वर अग्रवाल द्वारा प्रवासी भारतीयों को भी संस्कार और संस्कृति से जुड़े रहने का मार्ग प्रशस्त किया गया। उपरोक्त जानकारी अंतर्राष्ट्रीय सहयोग परिषद के संयुक्त सचिव और जनसंपर्क योगेश अग्रवाल, पी आर ओ द्वारा प्रदान की गई।