मृतक छात्रा अनुष्का शर्मा को इंसाफ दिलाने के लिए सड़कों पर उतरे छात्र-छात्राए, छात्र छात्राओं ने एसडीएम को मुख्यमंत्री के नाम दिया ज्ञापन, छात्रा प्रकरण की सीबीआई जांच व दोषियों को फांसी की सजा की मांग की, मुकदमे के 72 घंटे बाद भी मासूम छात्रा के दोषि पुलिस पहुंच से दूर , बिलख बिलख कर रोते मॉ बाप पुछ रहे है क्या इंसाफ मिलेगा हमारी बेटी अनुष्का शर्मा को ?

0
238
शामली/कैराना। विजय सिंह पथिक के छात्र-छात्राओं ने सड़कों उतरक छात्रा अनुष्का शर्मा को इंसाफ दिलाने के लिए नारेबाजी करते हुए कस्बे के विजय सिंह पथिक से लेकर शामली अड्डा चौक बाजार को निकलते हुए तहसील परिसर में पहुंचकर मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा, ज्ञापन में छात्रों ने मांग की है कि छात्रा अनुष्का शर्मा की मृत्यु की सीबीआई जांच हो और दोषियों को फांसी की सजा हो, छात्रों ने पुलिस पर भी कार्रवाई न करने का आरोप लगाया।
 गौरतलब रहे कि कैराना नगर की टीचर्स कॉलोनी स्थित डीके कान्वेंट स्कूल में गांव बुच्चाखेड़ी निवासी अनुष्का पत्र मुकेश कुमार की 15 वर्षीय बेटी कक्षा नौ की छात्रा थी। गत 26 मार्च की सुबह 9 बजकर 53 पर छात्रा स्कूल की तीसरी मंजिल से नीचे गिरने से संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु हो गई थी। उसके बाद छात्रा को उसके गांव ले जाया गया। जहां पर दोपहर के समय परिवार व ग्रामीणों ने छात्रा का अंतिम संस्कार कर दिया था। छात्रा के पिता व परिजनों ने बताया था कि स्कूल मैनेजमेंट द्वारा उन्हें छात्रा अनुष्का के एक पेपर में फेल होने के बाद सदमे में आकर छत से नीचे गिर कर सुसाइड करने की बात कही थी। स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरों में घटना केद होना बताया था। वहीं जब परिजन शाम के समय स्कूल में पहुंचे थे, ओर परिजनों ने सीसीटीवी फुटेज देखने लगे तो डीवीआर से उस दिन के फोटेज गायब थी। जिस दिन छात्रा के साथ घटना हुई थी। हांलाकि की 1 दिन पहले तक की फोटेज डीवीआर में मौजूद थी। तभी परिजनों को स्कूल स्टाप पर शक हो गया था। जिसके बाद परिजनों ने पुलिस से शिकायत कर कार्यवाही की मांग की थी। पुलिस ने डीवीआर कब्जे में लेकर जांच पड़ताल शुरू कर दी थी। मंगलवार को छात्रा के पिता मुकेश कुमार व सैकड़ों ग्रामीण कैराना पहुंचे थे। जिसके बाद गांव के ग्राम प्रधान पूर्व प्रधान व करीब एक दर्जन ग्रामीण कोतवाली में पहुंचे थे। जहां पर मासूम छात्रा के पिता ने दोबारा तहरीर देते हुए, बताया था। कि स्कूल के अध्यापक एवं प्रधानाचार्य के बेटे उसकी बेटी को परेशान करता था। पूर्व में बेटी ने घर आकर बताया था। साथ ही बताया कि घटना वाले दिन स्कूल प्रबंधक ने उनको गुमराह कर छात्रा का अंतिम संस्कार करा दिया था। पिता ने बताया कि मुझे यकीन हैं। कि उसकी बेटी की हत्या अध्यापक व प्रधानाचार्य के बेटे ने परेशान कर की है। छात्रा के पिता ने आरोप लगाया था कि अध्यापक छात्रा को मानसिक रूप से परेशान करता था। उन्होंने ही परेशान कर छात्रा को छत से गेर कर आत्महत्या का रूप दिया गया। उन्होंने कहा कि मेरी बेटी कभी आत्महत्या नहीं कर सकती वह तो ऊपर चढ़ने से भी डरती थी। जिसके बाद मंगलवार को सीओ जितेंद्र कुमार के आदेश पर पुलिस ने टीचर व प्रधानाचार्य के बेटे के विरुद्ध गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। लेकिन सवाल ये है कि मासूम छात्रा के दोषियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के 72 घंटे बाद भी मासूम छात्रा के दोषी पुलिस पकड़ से दूर नजर आ रहे है। वहीं शुक्रवार को विजय सिंह पथिक के छात्र छात्राओं ने सड़कों पर उतर कर अनुष्का शर्मा को इंसाफ दिलाने के लिए पुलिस व दोषियों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए, विजय सिंह पथिक से निकलते  हुए, कस्बे के मुख्य मार्गो से होते हुए तहसील परिसर में पहुंचकर छात्रा अनुष्का शर्मा के प्रकरण में छात्रों ने सीबीआई जांच की मांग की, और दोषियों को फांसी की सजा की मांग करते हुए, मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा,
छात्र छात्राओं ने पुलिस की कार्रवाई पर भी उठाए सवाल,
कैराना। मृतका अनुष्का शर्मा को इंसाफ दिलाने के लिए विजय सिंह पथिक के छात्र छात्राओं ने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाए, छात्राओं ने कहा कि पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। स्कूल स्टाफ से पैसे लेकर केस को दबाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि 6 दिन हो गए, पुलिस ने अब तक कोई कार्यवाही नहीं की है। छात्राओं ने कहा कि व पुलिस की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है।
,,,,,
छात्राओं ने सुसाइड नोट को लेकर भी उठाए सवाल,
कैराना। छात्राओं ने कहा कि नाबालिग लड़की सुसाइड नोट नहीं लिख सकती, और अगर सुसाइड नोट लिखा गया था। तो मृतका छात्रा ने सुसाइड नोट अपने परिजनों के नाम क्यों नहीं लिखा, सुसाइड नोट टीचर के नाम यह क्यों लिखा गया। छात्रों ने स्कूल मैनेजमेंट पर सवाल उठाते हुए, कहा कि सुसाइड नोट पहले दिन ही परिजनों को क्यों नहीं दिखाया गया। 2 दिन बाद पुलिस को ही क्यों सुसाइड नोट पर आ गया। छात्रों ने सुसाइड नोट को फर्जी बताया।
छात्र-छात्राओं ने प्रबंधक पर भी लगाया सबूत मिटाने का आरोप,
कैराना। छात्र छात्राओं ने स्कूल प्रबंधक पर आरोप लगाया कि प्रबंधक द्वारा अनुष्का शर्मा की घटना की सीसीटीवी फुटेज गायब कर सबूत मिटाने का प्रयास किया है। छात्राओं ने कहा कि प्रबंधक के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए, इसके अलावा छात्राओं ने कहा कि छात्रा अनुष्का शर्मा की हत्या कर उसे ऊपर से फेंका गया है। उसके बाद स्कूल मैनेजमेंट द्वारा सारे सबूत मिटा दे गए हैं।
छात्र-छात्राओं ने स्कूल के बाहर भी नारेबाजी कर प्रदर्शन किया
कैराना। मृतका अनुष्का शर्मा के साथ जिस स्कूल में घटना घटित हुई, उसी स्कूल के बाहर भी छात्र-छात्राओं ने स्कूल व स्कूल मैनेजमेंट के खिलाफ नारेबाजी करते हुए, प्रदर्शन किया, काफी देर तक छात्र छात्राओं ने नारेबाजी करते हुए, वापस लौट गए,।
रिपोर्ट :- सिद्धार्थ भारद्वाज प्रभारी जनपद शामली उ०प्र०।