अध्यक्ष के चेहरों के पक्ष विपक्ष’

0
219

देहरादून। आलाकमान के अनुसार संभवतः पहले अध्यक्ष पद का निर्णय लिया जाना है तथा नेता प्रतिपक्ष का निर्णय बाद में समीकरणों को देख़ लिया जा सकता है। वर्तमान में अध्यक्ष पद के लिए 3 नाम महत्वपूर्ण चल रहे है पहला नाम भुवन कापड़ी का माना जा रहा है जिसका कारण है उनका वर्तमान तक नेता प्रतिपक्ष रहे प्रीतम सिंह से नजदीकी। क्योकि हरीश रावत और गणेश गोदियाल की हार के बाद यदि भुवन कापड़ी को अध्यक्ष बनाया जाता है तो प्रीतम सिंह खेमें के हाथ में पूरी कमान आ जाएगी और इससे दूसरे खेमे के लोगो को किनारे लगने का भय रहेगा। दूसरी समस्या भुवन कापड़ी के साथ चुनाव के समय लीक हुई उनकी वीडियो है जिसमे वह खुलकर खनन के काम के लिए सौदेबाजी कर रहे थे। चुनाव में यह वीडियो 12 फरवरी को जारी हुई तो इसका प्रभाव अधिक नहीं हुआ परन्तु अध्यक्ष पद के लिए नाम चलते ही विपक्षी दलों ने वीडियो को सोशल मीडिया पर फैलाकर अभी से कांग्रेस संगठन पर प्रश्नचिहन लगाना शुरू कर दिया है।
दूसरा नाम प्रकाश जोशी का है परंतु किसी गुट का नहीं होना उनका कमजोर पक्ष माना जाता है। हालाँकि वे अपने कार्यक्रमों तथा स्पष्टवादिता के कारण कार्यकर्ताओं के काफ़ी पसंदीदा हैं। वह राष्ट्रीय स्तर कांग्रेस हाईकमान के नजदीकी माने जाते है पिछली बार भी वह अध्यक्ष बनते बनते रह गए थे इस बार उनके नाम पर मोहर लगेगी या नहीं यह भविष्य के गर्भ में है।
तीसरा नाम विधायक मनोज तिवारी है वह हरीश रावत के नजदीकी माने जाते है और हरीश रावत ग्रुप की वर्तमान स्थिति को देखते हुए शायद प्रीतम सिंह खेमा उनको स्वीकार ना करें और खुद मनोज तिवारी की पहचान प्रदेश में नहीं है।